रायपुर। पुलिस की पहल पर उन नागरिकों को सम्मानित किया जा रहा है, जो लोगों की जान बचाने के लिए आगे आ रहे हैं। इसी कड़ी में सड़क दुर्घटना में घायल होने वालों की त्वरित मदद कर उनकी जान बचाने वाले 06 नेक इंसानों (गुड सेमेरिटंस) को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह ने सम्मानित किया। SP संतोष सिंह ने बताया है कि शहर में इन गुड सेमेरिटन के फोटो युक्त होर्डिंग लगाये जायेंगे, ताकि सड़क दुर्घटना में घायलों की मदद के लिए लोगों में जागरूकता लायी जा सके।

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर शुरू की गई यह सम्मान योजना

सड़क दुर्घटनाओं पर रोकथाम एवं घायलों को त्वरित उपचार हेतु उच्चतम न्यायालय द्वारा सड़क दुर्घटना में घायलों को त्वरित चिकित्सा उपलब्ध कराने वाले व्यक्तियों को गुड सेमेरिटंस अर्थात नेक व्यक्ति की संज्ञा देते हुए इन्हें प्रोत्साहित व पुरस्कृत करने के लिए निर्देशित किया गया है, इसी कड़ी में 14 मई 2024 को सड़क दुर्घटनाओं में ‘गोल्डन आवर्स’ में घायलों की मदद करने वाले 06 नेक इंसानों (गुड सेमेरिटंस) को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह द्वारा सम्मानित किया गया। साथ ही प्रतिमाह ऐसे नेक इंसानों को सम्मानित करने के निर्देश दिए गये हैं।

SSP संतोष सिंह ने बताया कि इन सभी का फोटोयुक्त होर्डिंग शहर के विभिन्न स्थानों पर लगाया जाएगा, ताकि आम नागरिकों को भी नेक काम के लये प्रोत्साहित किया जा सके। इस मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात रायपुर ओमप्रकाश शर्मा, उप पुलिस अधीक्षक यातायात रायपुर सुशान्तो बनर्जी एवं सड़क सुरक्षा सेल के स्टाफ प्रआर.कमलेश कुमार, आरक्षक मुकेश कुमार एवं आरक्षक सहदेव राम वर्मा उपस्थित रहे।

लोगों की जान बचाने वाले इन नेक इंसानों की कहानियां :

01 प्रदीप साहू, संजय नगर एवं 02. भगवानू नायक, कोटा :
दिनांक 29.04.2024 को राजभवन गेट नंबर 01 के सामने ई रिक्शा में घटित सड़क दुर्घटना में ई रिक्शा चालक विदुर महानंद एवं घायल हुए सवार महिला जानकारी यादव को काफी गंभीर चोटें आयी थी, इस मौके पर तत्काल डायल 112 में काल कर 108 एम्बुलेंस मंगाया और दोनों घायलों को मेकाहारा हास्पिटल पहुंचाने के बाद इन्हें भर्ती कराकर इनकी जान बचाने में इन्होने अहम भूमिका निभाई।

03 सूर्यप्रताप सिंह, ग्राम नकटा : दिनांक 02 मार्च 2024 को ग्राम छतौना आरआईटी कालेज के पास ट्रक का एक्सीडेंट हुआ था जिसमें ट्रक चालक को चोट आने से वह बेहोश हो गया था, यहां से गुजर रहे सूर्यप्रताप सिंह ने डायल 112 को सूचना देकर मंदिर हसौद शासकीय हास्पिटल ले जाकर भर्ती कराया और उसकी जान बचाने में अहम भूमिका निभाई।

04 नरेन्द्र जांगड़े, ग्राम छतौना : दिनांक 21 अप्रेल 2024 को रिंग रोड नंबर 03 में ग्राम तुलसी के पास ट्रक और टैंकर में हुए दुर्घटना में घायल व्यक्ति को पुलिस को सूचना देकर मंदिर हसौद शासकीय हास्पिटल ले जाकर भर्ती कराकर उनकी जान बचाने में अहम भूमिका निभाई।

05 हरिओम शुक्ला, गुढ़ियारी : दिनांक 19 अक्टूबर 2023 को रात्रि 03.00 बजे मेजबान होटल, शास्त्री बाजार के पास सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल महिला को डायल 112 के माध्यम से 108 एम्बुलेंस बुलाकर मेकाहारा अस्पताल पहुंचाया।

06 प्रांजल जैन पाटोदी, सदर बाजार : दिनांक 08 अप्रेल 2024 को रात्रि 10.40 बजे पचपेड़ीनाका के पास गंभीर रूप से घायल जेठूराम नागरची को 108 एम्बुलेंस बुलाकर मेकाहारा हास्पिटल पहुंचाया।

सड़क हादसों में हर साल लाखों मौतें…

बता दें कि भारत देश में प्रति वर्ष सड़क दुर्घटना में लगभग डेढ़ लाख लोगों की मृत्यु होती है, जिसकी प्रमुख वजह घायलों को त्वरित चिकित्सा सहायता नहीं मिलना है। सड़क दुर्घटना के बाद का 60 मिनट का समय ‘गोल्डन आवर’ कहलाता है, इस दौरान यदि घायल व्यक्ति को किसी भी तरह हास्पिटल तक पहुंचा दिया जाए या फिर चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध करा दिया जाए तो घायल की जान बचाई जा सकती है।

मोबाइल से फोटो खींचने में ज्यादा रूचि…

अधिकांश सड़क हादसों में लोगों द्वारा बार बार पेशी जाने और पुलिस द्वारा की जाने वाली पूछताछ से परेशानी होगी, सोचकर घायल की मदद नहीं की जाती है, वहीं घटनास्थल पर मौजूद अधिकांश लोग
मोबाइल फोन से विडियो-फोटो बनाने में जरूर व्यस्त नजर आते हैं। ऐसे में घायल व्यक्ति त्वरित उपचार के अभाव में दम तोड़ देता है। इसे दृष्टिगत रखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जिला रायुपर संतोष कुमार सिंह द्वारा सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया है कि थाना क्षेत्र में घटित सड़क दुर्घटना में घायल को त्वरित सहायता पहुंचाने हेतु ‘गुड सेमेरिटंस’ का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करें एवं घायल को त्वरित सहायता पहुंचाकर जान बचाने वाले गुड सेमेरिटंस को प्रोत्साहित व पुरस्कृत करने हेतु उपस्थित कराएं। इसकी शुरुआत आज ही की गई और रायपुर जिले में घटित विभिन्न सड़क दुर्घटनाओं में घायलों की मदद करने वाले गुड सेमेरिटन को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह द्वारा मोमेंटो व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इसके आलावा इनके फोटोयुक्त होर्डिंग शहर के विभिन्न स्थानों पर लगाए जायेंगे।

Loading

error: Content is protected !!