THAG ARREST

बिलासपुर। सेना के रिटायर्ड जवान के साथ धोखाधड़ी करने वाले शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी नौकरी लगाने के नाम पर जवान से 11 लाख लिए, लेकिन न तो नौकरी लगाया न ही पैसे लौटाए। आरोपी करीब 8 माह से फरार था।

इस मामले में पीड़ित जगदीश प्रसाद चन्द्रा पिता गंगाराम चन्द्रा उम्र 40 वर्ष निवासी पाटलीपुत्र कालोनी राजकिशोर नगर सरकण्डा ने लिखित रिपोर्ट दर्ज कराया कि दिसम्बर 2021 में उसके साथी विजय कौशिक, निवासी बरतोरी के माध्यम से योगेश सनाड्य से जान-पहचान हुई थी, चर्चा के दौरान मंडी निरीक्षक के पद पर आवेदन करना बताने पर योगेश सनाड्य ने स्वयं का मंत्रालय में अच्छी पहचान होना एवं छोटू यादव, निवासी लचकेरा गरियाबंद से परिचय होना, जो खाद्यमंत्री का पी.ए. है जिससे घरेलू संबंध होना बताकर मंडी निरीक्षक के पद पर चयन करा देने की बात कहते हुये पूर्ण आश्वासन देकर 15 लाख रू. लगना बताया। जिसके झांसे में आकर प्रार्थी ने आरोपी के बताये खाते में पृथक-पृथक कुल 11लाख रू. दे दिया, मगर नौकरी नहीं मिली।

दो के खिलाफ दर्ज कराया FIR

इस संबंध में विजय कौशिक से बातचीत करने पर योगेश सनाड्य उसका रिस्तेदार है, आपका पैसा वापस हो जायेगा कहने लगा, किन्तु काफी समय बीत जाने पर भी पैसा वापस नहीं किया, रकम मांग करने पर परेशान मत करो कहने लगा, प्रार्थी की शिकायत पर धारा 420, 34 भादवि के तहत योगेश सनाड्य और छोटू यादव के खिलाफ जुर्म दर्ज कर आरोपी की पतासाजी की जा रही थी। मगर रिपोर्ट बाद से आरोपीगण लगातार फरार चल रहे थे।

मोबाइल लोकेशन के जरिये आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने पतासाजी दौरान सर्विलांस के जरिये तकनीकी साक्ष्य एकत्र किया गया जिस पर आरोपी छोटू यादव को पुणे महाराष्ट्र में लोकेशन होने की जानकारी मिलने पर छोटू यादव को पुणे से 31 मई को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया है। मगर दूसरा आरोपी योगेश सनाढ्य फरार चल रहा था। मुखबिर से महत्वपूर्ण सुराग मिलने के बाद एक टीम तैयार कर आरोपी योगेश सनाड्य (वर्मा) उम्र 51 वर्ष निवासी बरतोरी, थाना बिल्हा, जिला बिलासपुरको मौके से गिरफ्तार किया गया। इस मामले में पूर्व में गिरफ्तार आरोपी : छोटू यादव पिता घनश्याम यादव उम्र 30 वर्ष निवासी लचकेरा थाना फिंगेश्वर जिला गरियाबंद हाल मुकाम अटल आवास तेलीबांधा रायपुर में होना बताया गया है।

Loading

error: Content is protected !!