नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दावा किया कि यदि भारतीय जनता पार्टी चुनाव जीतती है तो पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, शिवसेना (UBT) के प्रमुख उद्धव ठाकरे और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव समेत सभी विपक्षी नेताओं को जेल में डाल दिया जाएगा।

केजरीवाल ने यहां आम आदमी पार्टी (AAP) के मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दावा किया कि भाजपा सत्ता में वापस नहीं आएगी और चार जून को विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा, जेल से छूटने के बाद पिछले 20 घंटों में मैंने चुनाव विशेषज्ञों और लोगों से बात की, तब पता चला कि भाजपा की सरकार नहीं बन रही। मुख्यमंत्री ने कहा, आम आदमी पार्टी केंद्र में सरकार का हिस्सा बनेगी। हम दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाएंगे।

केजरीवाल ने कहा, ये लोग ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव एलायंस (I.N.D.I.A) गठबंधन से उनके चेहरे के बारे में पूछते हैं। मैं भाजपा से पूछता हूं कि उनका प्रधानमंत्री कौन होगा? प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी अगले साल 17 सितंबर को 75 साल के हो रहे हैं। उन्होंने नियम बनाया था कि 75 साल की उम्र वालों को ‘रिटायर’ कर दिया जाएगा। उन्होंने लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, सुमित्रा महाजन को रिटायर कर दिया था।

अमित शाह को पीएम बनाने मांग रहे वोट

दिल्ली सीएम ने कहा, नरेंद्र मोदी अगले साल रिटायर हो जाएंगे। वह अमित शाह को प्रधानमंत्री बनाने के लिए वोट मांग रहे हैं। क्या शाह मोदी जी की गारंटी पूरी करेंगे? केजरीवाल ने यह भी दावा किया कि यदि भाजपा सत्ता में आई तो पार्टी दो महीने के भीतर उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बदल देगी। जब केजरीवाल जेल में थे तो भाजपा ने उनसे इस्तीफे की मांग की थी। इस्तीफा नहीं देने के बारे में उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री का पद मेरे लिए महत्वपूर्ण नहीं है। मैंने मुख्यमंत्री पद नहीं छोड़ा क्योंकि एक फर्जी मामले में मुझे इस्तीफा देने के लिए मजबूर करने की साजिश रची गई थी।

चोर-डकैतों को शामिल कर लिया BJP में

केजरीवाल ने भाजपा पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि सभी चोरों और डकैतों को पार्टी में शामिल कर लिया गया है। उन्होंने कहा, यदि प्रधानमंत्री को भ्रष्टाचार से लड़ना सीखना है तो उन्हें अरविंद केजरीवाल से सीखना चाहिए। हमने भ्रष्टाचारियों और यहां तक कि अपने मंत्रियों को भी जेल भेजा। मुख्यमंत्री ने यह भी आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने हमारी पार्टी को कुचलने में कोई कसर नहीं छोड़ी और एक साल में ‘आप’ के चार शीर्ष नेताओं को जेल भेज दिया।

Loading

error: Content is protected !!