Trending Now

कोण्डागांव। बस्तर संभाग के कोण्डागांव में नोनी सुरक्षा योजना के तहत बनने वाले गरीबी रेखा प्रमाण पत्र के एवज में 500 रूपये की फीस तय करने वाले मुख्य नगर पालिका अधिकारी (CMO) राजेन्द्र पात्रे को निलंबित कर दिया गया है। गरीबों से नियम के विरूद्ध तरीके से रूपये लेने की शिकायत को कलेक्टर ने गंभीरता से लिया और जांच के बाद यह कार्यवाही की गई।

जांच समिति द्वारा जो रिपोर्ट सौंपी गई उसके मुताबिक नोनी सुरक्षा योजना अंतर्गत दिये जाने वाले गरीबी रेखा प्रमाण पत्र के लिए नगर पालिका अधिनियम में शुल्क लिये जाने का कोई प्रावधान नहीं है और ना ही निकाय द्वारा आयोजित पीआईसी की बैठक में योजना के लिए 500 रूपये शुल्क लिए जाने की कार्यवाही का उल्लेख है। इस मामले में जांच के बाद नगरी प्रशासन एवं विकास विभाग के अवर सचिव ने आदेश जारी कर नगर पालिका परिषद कोंडागांव के मुख्य नगर पालिका अधिकारी राजेंद्र पात्रे को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड किया गया है।

बहरहाल नियम विरुद्ध 500 रुपए वसूल किये जाने पर सीएमओ राजेन्द्र पात्रे को सस्पेंड कर जगदलपुर अटैच कर दिया गया है। नीचे देखें आदेश…

error: Content is protected !!