Trending Now

PSC Teacher : बीपीएससी टीचर एग्जाम में पेपर लीक कराने वाले रैकेट और सॉल्वर गैंग का खुलासा हो गया है। इसके लिए हजारीबाग में जाल बिछाई गई थी। बिहार पुलिस ने झारखंड पुलिस की मदद से 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। पता चला है कि 5 से 15 लाख रुपये में बिहार शिक्षक भर्ती परीक्षा के प्रश्न पत्र बेचे गए थे।

झारखण्ड के हजारीबाग में बैठकर हुई तैयारी

बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) की शिक्षक नियुक्ति परीक्षा को लेकर बड़ी खबर आई है। बीपीएससी टीचर रिक्रूटमेंट एग्जाम में पेपर लीक और सॉल्वर गैंग का पर्दाफाश हुआ है। पता चला है कि बिहार शिक्षक भर्ती परीक्षा में धांधली के लिए जालसाजों ने झारखंड के हजारीबाग में बैठकर तैयारी की थी। ये रैकेट हजारीबाग से संचालित हो रहा था। इसका खुलासा बिहार की आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू), बिहार पुलिस और झारखंड पुलिस के ज्वांयट ऑपरेशन में हुआ है। हजारीबाग से गैंग के पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

सरकारी अफसरों की मिलीभगत उजागर

सबसे चौंकाने वाली बात यह कि इस रैकेट के संचालन में बिहार सरकार के कई अफसरों की संलिप्तता के सबूत मिल रहे हैं। बिहार के एक वरिष्ठ अधिकारी के नेमप्लेट की एक गाड़ी भी हजारीबाग में जब्त की गई है। होटल से पुलिस हेल्थ विभाग के डिप्टी सेक्रेटरी का बोर्ड लगा स्कॉर्पियो भी जब्त की है।

होटल में रखकर रटवाए थे उत्तर

BPSC Teacher Exam: पुलिस की जांच में पता चला है कि गैंग ने बीपीएससी शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों से 5 लाख रुपये से लेकर 15 लाख रुपये तक लिए थे और उन्हें परीक्षा का पेपर उपलब्ध कराया था। उनके उत्तर भी सॉल्व कराए गए थे। ऐसे करीब 400 से भी ज्यादा अभ्यर्थियों को हजारीबाग में अलग-अलग बैंक्वेट हॉल और होटल में रखकर प्रश्नों के उत्तर रटवाए गए थे।

रात भर हजारीबाग में KH तलाशती रही पुलिस

हजारीबाग के KH (कोहिनूर बैंक्वेट) में सॉल्वर गैंग इस तरह की घटना को अंजाम दे रहा है इसकी सूचना बिहार पुलिस को गुरुवार रात को मिली। सूचना मिलते ही बिहार पुलिस और EOU की टीम हरकत में आ गई। IPS रैंक के अधिकारी के नेतृत्व में एक स्पेशल टीम बनाई गई।

इसके बाद पुलिस पूरी रात तक KH को तलाशते रही। सुबह साढ़े 6 बजे पुलिस की टीम इसे डिकोड कर पाई और शहर के बैंक्वेट हॉल कोहिनूर में रेड की। पुलिस के पहुंचने से पहले ही आधे बच्चे पहली सिटिंग की परीक्षा के लिए निकल चुके थे ।

झारखण्ड से बसों में भरकर जा रहे थे बिहार

पुलिस ने होटलों और बैंक्वेट हॉल में छापा मारकर ऐसे 250 से ज्यादा अभ्यर्थियों को हिरासत में लिया है। इन जगहों पर रुकवाए गए अभ्यर्थी शुक्रवार को बिहार के अलग-अलग परीक्षा केंद्रों के लिए बसों से रवाना हुए थे। पुलिस ने इन बसों को बीच रास्ते में रोककर हिरासत में लिया। परीक्षा शुक्रवार को ही होनी थी।

ऐसे चला पुलिस का ऑपरेशन

बिहार पुलिस द्वारा जारी बयान के मुताबिक, सुबह तीन बजे सभी छात्रों को अलग-अलग केंद्रों पर ले जाया जा रहा था। तभी पुलिस को इसकी भनक लगी और बड़ा ऑपरेशन चलाया गया। हजारीबाग के बरही से 90, पेलावल से 70, पदमा से 80, कोर्रा से 15 और कटकमसांडी से 15 अभ्यर्थियों को हिरासत में लिया गया। बीती रात ही पुलिस इन्हें बिहार ले गई है, जहां उनसे पूछताछ की गई।

सॉल्वर गैंग से बरामद हुई कई सामग्रियां

रैकेट का संचालन करने वाले जिन पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उनके पास से बीपीएससी क्वेश्चन पेपर, कंप्यूटर, लैपटॉप, प्रिंटर, पेन ड्राइव बरामद हुए हैं। बताया जा रहा है कि गुरुवार को ही आर्थिक अपराध इकाई पटना को सूचना मिली थी कि हजारीबाग में प्रश्नपत्र लीक हो गया है। इसके बाद झारखंड की हजारीबाग पुलिस के सहयोग से ऑपरेशन चलाया गया। बताया जा रहा है कि अभ्यर्थियों के पास से जो प्रश्न पत्र मिले हैं, वही प्रश्न शुक्रवार को आयोजित परीक्षा में पूछे गए थे।

error: Content is protected !!