Trending Now

0 मतगणना स्थल में प्रवेश से रोकने पर मचा बवाल

कोण्डागांव। जिले में मतणना स्थल के बाहर पूर्व मंत्री और भाजपा प्रत्याशी लता उसेंडी अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गयी। लता उसेंडी ने आरोप लगाया है कि निर्वाचन अधिकारी और राजनीतिक पार्टी के निर्वाचन अभिकर्ता निरीक्षण में पहुंचे थे, लेकिन यहां निरीक्षण के दौरान कांग्रेस के बिना पास धारकों को अंदर जाने दिया गया। मगर भाजपा के जिलाध्यक्ष को प्रवेश नहीं दिया गया। इस मामले से गुस्सायी लता उसेंडी और भाजपा के पदाधिकारी मतगणना स्थल के बाहर ही धरना पर बैठ गये और एसपी-कलेक्टर को निलंबित करने की मांग करने लगीं।

जिला मुख्यालय कोण्डागांव के कॉलेज परिसर में मतगणना केंद्र स्थापित किया गया है, साथ ही यहां स्ट्रांग रूम भी है, जहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम के दावे लगातार किए जा रहे हैं। इन्हीं व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए 30 नवंबर की सुबह राजनीतिक पार्टी के प्रत्याशी, निर्वाचन अभिकर्ता और निर्वाचन अधिकारियों का निरीक्षण तय किया गया था। इस दौरान भाजपा के जिलाध्यक्ष दीपेश अरोरा को अंदर जाने से रोक दिया गया, तो वहीं कांग्रेस के गैर पास धारी तीन व्यक्तियों को अंदर जाने दिया गया। इससे भाजपा पदाधिकारी में आक्रोश है। गुस्से का इजहार करते हुए सभी मतगणना केंद्र के सामने धरने पर बैठ गए हैं। धरना देते हुए भाजपाइयों की मांग है कि गैर पास धारी प्रवेश करने वालों को गिरफ्तार किया जाए और जिम्मेदार अधिकारियों को तत्काल निलंबित किया जाए।

error: Content is protected !!