Trending Now

जयपुर। राजस्थान विधानसभा चुनाव में हार के बाद एक महीने के भीतर ही कांग्रेस को जश्न मनाने का मौका मिल गया है। श्रीगंगानगर की श्रीकरणपुर विधानसभा सीट पर भाजपा के उम्मीदवार सुरेंद्रपाल सिंह टीटी चुनाव हार चुके हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि बीजेपी इस उपचुनाव से पहले ही टीटी को भजन लाल कैबिनेट में मंत्री बना चुकी थी, इसलिए इस चुनाव में बीजेपी का काफी कुछ दांव पर लगा हुआ था। कांग्रेस प्रत्याशी रूपिंदर सिंह कूनर ने सुरेंद्र पाल टीटी को 12 हजार वोटों से हरा दिया है। चुनावी नतीजे से सरकार की सेहत पर भले ही कोई असर ना पड़े लेकिन इससे भाजपा को किरकिरी का सामना करना पड़ रहा है।

कांग्रेस प्रत्याशी की मौत के चलते हुआ उपचुनाव

बता दें कि पिछले महीने चुनाव प्रचार के बीच कांग्रेस उम्मीदवार और तत्कालीन विधायक गुरमीत सिंह कूनर के निधन के कारण मतदान स्थगित कर दिया गया था। उसके बाद उपचुनाव की घोषणा हुई थी। कांग्रेस ने कूनर के बेटे रूपिंदर सिंह को इस सीट से मैदान में उतारा था।

प्रत्याशी को ही मंत्री बना दिया था भाजपा ने

इधर भाजपा ने करणपुर से सुरेंद्रपाल सिंह टीटी को प्रत्याशी घोषित किया और उन्हें भजन लाल के कैबिनेट में मंत्री भी बना दिया। सुरेंद्रपाल टीटी ने आज से ठीक 10 दिन पहले 30 दिसंबर को मंत्री पद की शपथ ली थी। तब सुरेंद्र पाल सिंह को भजनलाल सरकार में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया था, लेकिन अब चुनाव में हार के बाद उन्हें यह पद छोड़ना होगा। नियम के मुताबिक, किसी ऐसे व्यक्ति को मंत्री बनाया जा सकता है जो विधानसभा का सदस्य ना हो, लेकिन छह महीने के भीतर चुनाव जीतकर विधायक बनना आवश्यक है।

निर्दलीय प्रत्याशियों की जमानत जब्त

इस उप चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रुपिंदर सिंह को 60407 वोट मिले तो भाजपा के सुरेंद्रपाल सिंह टीटी ने 47713 वोट हासिल किये। भाजपा और कांग्रेस की सीधी टक्कर में अन्य सभी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई है।

बता दें कि राजस्थान में विधानसभा की 200 में से 199 सीटों के लिए 25 नवंबर को मतदान हुआ, जिसका परिणाम 3 दिसंबर को घोषित किया गया। परिणामों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 115 और कांग्रेस को 69 सीटें मिलीं। करणपुर में जीत के बाद कांग्रेस के विधायकों की संख्या बढ़कर 70 हो गई है।

जीत से गदगद हुए अशोक गहलोत

नतीजे घोषित होते ही राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने कांग्रेस प्रत्याशी को जीत की बधाई दी। उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए कहा कि श्रीकरणपुर में कांग्रेस प्रत्याशी रुपिन्दर सिंह कुन्नर को जीत की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। यह जीत स्व. गुरमीत सिंह कुन्नर के जनसेवा कार्यों को समर्पित है। श्रीकरणपुर की जनता ने भारतीय जनता पार्टी के अभिमान को हराया है।

सरकार मंत्री बना सकती है, लेकिन विधायक नहीं – डोटासरा

यह नतीजा भाजपा के लिए एक बड़ा झटका भी है, तो एक सबक भी है। इसी बीच कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने भाजपा पर बड़ा हमला बोला है। पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि सरकार मंत्री बन सकती है लेकिन विधायक नहीं विधायक जनता ही बनाती है।

“भाजपा ने आचार संहिता का किया उल्लंघन”

डोटासरा ने एक और ट्वीट करते हुए कहा कि भाजपा ने आचार संहिता की धज्जियां उड़ा के अपने प्रत्याशी को मंत्री बनाया, चुनाव आयोग भी इसे लेकर शांत रहा लेकिन जनता ने अपना फैसला सुना दिया है। इसके साथ ही डोटासरा ने कहा कि भाजपा की नई सरकार इधर कांग्रेस की योजना का नाम बदल रही है, उधर जनता ने इनका मंत्री ही बदल दिया।

error: Content is protected !!