Trending Now

0 दो दिन में जारी होगी NEET PG की नई डेट

अहमदाबाद। गोधरा में नीट परीक्षा धांधली मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) ने चार आरोपियों की रिमांड मिलने के बाद पूछताछ शुरू कर दी है। सीबीआई की अर्जी पर कोर्ट ने चार आरोपियों की रिमांड मंजूर कर दी है। इनमें आरोपी तुषार भट्ट, विभोर आनंद, आरिफ वोरा और पुरुषोत्तम शर्मा शामिल हैं। आरोपियों के सीबीआई हिरासत में आने के बाद गहन पूछताछ में बड़े खुलासे हो सकते हैं।

16 छात्रों को थी नकल कराने की योजना

सरकारी वकील राकेश ठाकोर ने मीडिया को बताया कि सीबीआई ने जलाराम स्कूल के शिक्षक तुषार भट्ट, प्रिंसिपल पुरषोत्तम शर्मा, बिहार से पकड़े गए विभोर आनंद और वडोदरा में रॉय ओवरसीय का संचालन करने वाले परशुराम रॉय के साथ आरिफ वोहरा की रिमांड मांगी थी। इस मामले में पंचमहाल पुलिस ने कुल पांच आरोपियों को अरेस्ट किया था। पंचमहाल पुलिस की जांच में सामने आया था कि जलाराम स्कूल में 16 नीट कैंडिडेट को नकल कराने का योजना बनाई गई थी। इसमें 10 छात्र गुजरात के रहने वाले हैं जब छह छात्र दूसरे राज्यों के हैं। दूसरे राज्य के छात्रों को गुजराती भाषा चुनने के लिए कहा गया था।

सीबीआई की अलग अलग टीम ने गुजरात मे 7 जगहों पर सर्च ऑपरेशन किया था। तलाशी उन लोगों के ठिकानों पर की गई जो साजिश का हिस्सा थे। इनमें गोधरा, खेड़ा, आनंद, और अहमदाबाद शामिल हैं। सीबीआई ने कोर्ट से चार आरोपियों की रिमांड मांगने के लिए अर्जी डाली थी, जिसे मंजूरी दे दी गई।

मध्यस्थ की भूमिका निभाई आरिफ वोहरा ने

गोधरा में नकल के आरोप के बाद गुजरात पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। इनमें तुषार भट्ट, रॉय, पुरुषोत्तम शर्मा, शिक्षा सलाहकार विभोर आनंद और स्कूल शिक्षकों से जुड़े मध्यस्थ आरिफ वोहरा का नाम शामिल है। सीबीआई को रॉय को छोड़कर चारों आरोपियों की रिमांड मिली है।

पुरुषोत्तम शर्मा प्रिंसिपल, तुषार भट्ट टीचर

दरअसल, पुरुषोत्तम शर्मा गोधरा के उसी जय जलाराम स्कूल में प्रिंसिपल और तुषार भट्ट टीचर हैं, जहां नीट परीक्षा में गड़बड़ी की जानकारी मिली थी. पुलिस के मुताबिक फिजिक्स टीचर तुषार भट्ट को नीट-यूजी परीक्षा केंद्र में उपाधीक्षक बनाया गया था। ये स्कूल परवाडी गांव में है।

पेपर सॉल्व करने 10-10 लाख रुपये में हुई थी डील

परीक्षा के दिन (5 मई 2024) जिला अतिरिक्त कलेक्टरों और जिला शिक्षा अधिकारियों की एक टीम स्कूल पहुंची और भट्ट से पूछताछ की। जब उसके मोबाइल फोन की जांच की तो 16 परीक्षार्थियों के नाम, रोल नंबर और उनके परीक्षा केंद्रों की एक सूची मिली। ये सूची सह आरोपी रॉय द्वारा भट्ट के व्हाट्सएप नंबर पर भेजी गई थी। सूची के बारे में पूछे जाने पर भट्ट ने कहा कि ये वे उम्मीदवार हैं, जिन्हें उनके केंद्र पर नीट परीक्षा देनी है। जिला शिक्षा अधिकारी किरीट पटेल ने जानकारी दी थी कि तुषार भट्ट ने कबूल किया है कि परीक्षार्थियों के प्रश्नपत्र हल करने के लिए उन्हें 10-10 लाख रुपये देने का वादा किया गया है।

कार से बरामद हुए थे लाखों रूपये

जांच के दौरान तुषार भट्ट की कार से 7 लाख रुपये नकद बरामद किए गए थे। ये रकम आरिफ वोरा ने उन्हें एक परीक्षार्थी को मेरिट सूची में लाने में मदद करने के लिए अग्रिम भुगतान के रूप में दिए थे। आरोपियों और कुछ नीट-यूजी परीक्षार्थी के बीच बड़ी डील भी हुई थी। परीक्षार्थियों को उन प्रश्नों को खाली छोड़ने के लिए कहा गया था, जिनके उत्तर वे नहीं जानते थे। जिला शिक्षा अधिकारी की शिकायत पर गोधरा तालुका पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई थी।

नीट मामले में रॉय और विभोर आनंद की ये थी भूमिका

कथित तौर पर रॉय ने अपने कोचिंग संस्थान के माध्यम से छात्रों को शामिल किया था। आनंद छात्रों को मेडिकल की पढ़ाई के लिए विदेश भेजने के लिए एक कंसल्टेंसी चलाते हैं। वडोदरा के रहने वाले रॉय और विभोर आनंद बिहार के मूल निवासी हैं। योजना कथित तौर पर 30 छात्रों की मार्कशीट को संशोधित करने की थी। पुलिस ने 27 छात्रों की पहचान की है।

छात्रों के करोड़ों के चेक भी हुए बरामद

पुलिस ने कथित तौर पर रॉय के कार्यालय से सात छात्रों द्वारा दिए गए 2.82 करोड़ रुपये के चेक बरामद किए हैं, जबकि चार छात्रों ने रॉय के बैंक खाते में 66 लाख रुपये ट्रांसफर किए थे। माता-पिता के मोबाइल नंबर लिखे कुछ खाली चेक भी बरामद किए गए हैं। पुलिस का दावा है कि दूसरे राज्यों के छात्र रॉय और आनंद के संपर्क में थे और उन्हें परीक्षा देने के लिए गोधरा केंद्र चुनने की सलाह दी गई थी।

दो दिन में जारी होगी NEET PG की नई डेट

शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि अगले दो दिनों में NEET-PG की नई एग्जाम डेट जारी हो सकती है। दरअसल, 23 जून को होने वाली NEET-PG परीक्षा को एक दिन पहले 22 जून को कैंसिल कर दिया गया था।

हरियाणा के पंचकुला में मीडिया से चर्चा के दौरान प्रधान ने कहा- NEET मामले पर कांग्रेस चर्चा नहीं चाहती, सिर्फ अराजकता और भ्रम फैलाना चाहती है। सरकार की ओर से मैंने स्पष्ट कहा कि हम किसी भी तरह की चर्चा के लिए तैयार हैं, लेकिन कांग्रेस छात्रों के मुद्दे पर बात नहीं करना चाहती। वे चाहते हैं कि मामला चलता रहे। इससे ठीक एक दिन पहले NTA UGC-NET, CSIR-NET, NCET की डेट्स डिक्लेयर कर चुका है।

20 हजार कैंडिडेट्स ने दायर की याचिका

बता दें कि NEET पेपर लीक, रिजल्ट में गड़बड़ी और बिना किसी आधार के ग्रेस मार्क्स दिए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में लगभग 20 हजार कैंडिडेट्स ने याचिकाएं दायर की हैं। इन सभी याचिकाओं पर 8 जुलाई को सुनवाई होगी।

error: Content is protected !!