Trending Now

बिलासपुर। यहां के मस्तूरी क्षेत्र में 24 दिन की दुधमुंही बच्ची की कुएं में लाश मिलने के मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है। बच्ची की मां ने ही उसे कुएं में फेंक कर मार डाला था। आरोपी महिला ने पुलिस से कहा कि, ससुराल वाले लगातार बेटी होने पर उसे ताना मारते थे। इससे वह मानसिक रूप से काफी परेशान थी। यही वजह है कि उसने अपनी मासूम बेटी को मारने की साजिश रच डाली।

बच्ची के लापता होने की हुई थी शिकायत

मस्तूरी थाना क्षेत्र के ग्राम किरारी का निवासी करण की बच्ची 2 दिन से गायब थी। मामले में पुलिस में गुमशुदगी की शिकायत कराइ गई थी। करण की पत्नी हसीन गोयल का कहना था कि घर का दरवाजा अंदर से बंद था। अचानक रात करीब दो बजे उसकी नींद खुली और दूध पिलाने के लिए उसने बच्ची को देखा तो वह गायब थी।

पुलिस को परिजनों पर था शक

इस मामले का खुलासा करते हुए हेडक्वार्टर डीएसपी यु बेहार ने बताया कि, घर का एक ही दरवाजा और छत का रास्ता है। जिस कमरे में महिला और बच्ची सो रही थी, उसका दरवाजा महिला ने ही खुद बंद किया था। उसकी नींद खुली, तब बच्ची गायब मिली। लेकिन, कमरे का दरवाजा बंद मिला। इसलिए घटना के बाद से ही पुलिस को बच्ची की मां और परिजन पर शक था।

मस्तूरी टीआई अवनीश पासवान ने बताया कि, पुलिस की टीम के साथ ही FSL, डॉग स्क्वॉड और ACCU की टीम जांच कर रही थी। इसी दौरान बच्ची की लाश पास के ही कुएं में पाई गई। डेडबॉडी को पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। जिसके बाद बच्ची की मां और उसके परिजनों से सख्ती से पूछताछ की गई।

मां ने बच्ची की हत्या करना स्वीकारा

इस मामले में शुरुआत में बच्ची का मां हसीन गोयल पुलिस को गुमराह करती रही। बाद में उसने अपराध स्वीकार करते हुए बच्ची की हत्या करने की बात कही। उसने बताया कि उसकी पहले से दो बेटियां है। तीसरी बेटी के पैदा होने पर ससुरालवाले उसे ताना मारने लगे थे, जिससे उसका मान सम्मान कम हो गया था। इसी के चलते उसने बच्ची को कुएं में डाल दिया। पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

error: Content is protected !!