Trending Now

Hathras Stampede : हाथरस में हुए हादसे में पुलिस ने अब तक 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें 2 महिलाएं भी शामिल हैं।

हाथरस सत्संग हादसे में पुलिस ने अब तक 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें 2 महिलाएं भी है। बताया जाता है कि पकड़े गए ये सभी आरोपी आयोजन समिति के सदस्य और सेवादार हैं। आईजी अलीगढ़ रेंज शलभ माथुर ने यह जानकारी प्रेस कांफ्रेंस दी। उन्होंने बताया कि सभी 121 मृतकों की पहचान हो चुकी है। साथ ही सभी का पोस्टमार्टम भी हो चुका है। इस मामले की जांच के लिए कई टीमों का गठन किया गया है।

दर्जन भर लोग हिरासत में

Hathras Stampede : आईजी ने बताया कि पूछताछ के लिए अभी 12 लोग पुलिस की हिरासत में हैं। फॉरेंसिक टीम ने भी घटनास्थल पर जांच की हैं। भगदड़ में 112 महिलाओं की मौत हुई है। उन्होंने कहा कि इस मामले में भोले बाबा का रोल सामने आने पर कार्रवाई होगी। मुख्य आरोपी फरार सेवादार प्रकाश मधुकर पर 1 लाख का इनाम घोषित किया गया है। उनके खिलाफ एनबीडब्लू की भी कार्रवाई होगी।

फरार है भोले बाबा

Hathras Stampede : इस घटना के बाद से ही भोला बाबा फरार है। पुलिस ने इस हादसे को लेकर मामला दर्ज कर अपनी जांच शुरू कर दी है। इस बीच बाबा के आश्रम में रहने वाले रंजीत सिंह नाम के चश्मदीद ने भोले बाबा को लेकर चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। रंजीत सिंह के अनुसार भोले बाबा के पास कोई विशेष शक्ति नहीं है वो सिर्फ अपने पास विशेष शक्ति होने का ढोंग करता है। रंजीत सिंह ने कहा कि मेरे पापा इनके आश्रम में 15 साल रहे हैं। भोले बाबा का जहां गांव है हम वहीं से हैं। मेरा बचपना उसी गांव में गुजरा है।

ढोंग रचकर बन गए संत

Hathras Stampede : बाबा के पिताजी नन्हें बाबू थे, जो किसान थे। पुलिस की नौकरी छोड़ने के बाद बाबा ने सत्संग का ढोंग रचाकर पहले अपने एजेंट तैयार किए। एजेंट इकट्ठा करने के बाद बाबा ने उनको पैस दिया। इसके बाद यहां लोग आने शुरू हुए। ये एजेंटों को पैसे देकर ये कहलवाता था कि उनको बाबा की ऊंगली पर चक्र दिख रहा है। जैसे बाबा बोलते थे उनके एजेंट वैसे ही बोलते थे। ऐजेंट बाबा के हाथ में बाबा चक्र तो कभी हाथ में त्रिशूल दिखने की बात करके जनता को भ्रमित करते थे।

लड़कियों से गंदे काम करवाने का आरोप

Hathras Stampede : उन्होंने बताया कि बाबा के आश्रम में 16-17 साल की कई लड़कियां रहती है जिन्हें ये अपनी शिष्या बताता है। वो इन लड़कियों से गलत काम भी करवाता है। साथ ही बाबा सिगरेट और शराब का आदि है। ये बाबा नहीं बल्कि पाखंडी बाबा है। बहादुरनगर में कई लोगों की मौत हुई है जो मैंने भी देखी है। जिन लोगों की मौत हुई ना उनके शव का कोई पता नहीं लगा है। बाबा को जब लगा कि अब वह फंस सकता है तो उसने यहां से अपना आश्रम भी शिफ्ट किया है। यह बाबा पहले एक बार जेल भी गया है। इस बाबा ने पहले कहा था कि ये लड़की को जिंदा कर देगा, उसी केस में वो जेल भी गया है।

error: Content is protected !!