Trending Now

0 करोड़ों की बाइक और लग्जरी कारों को किया गया जब्त

सारंगढ़। लोगों को झांसे में लेकर उनके रुपये जमा कराके रातोंरात करोड़पति बने शिवा साहू पर पुलिस का शिकंजा कसना शुरू हो गया है। अब तक फरार चल रहे शिवा के होली के दिन घर पर आने की खबर मिलने पर पुलिस ने गांव में छापा मारा, मगर इससे पहले ही शिवा फरार हो चुका था। इस दौरान पुलिस ने शिवा साहू के पिता और दोस्त को गिरफ्तार किया है। साथ ही पिता के नाम से खरीदी गई करोड़ों रुपये की महंगी बाइक व लग्जरी कारों को भी जब्त कर लिया गया है।

बढ़ई का काम करता था परिवार

सारंगढ़ जिले के सरसींवा थाना क्षेत्र के रायकोना का रहने वाला शिवा साहू अपने पिता टीकाराम साहू के साथ खेती-किसानी के साथ ही बढ़ई का काम भी करता था। बताया जाता है कि शिवा ने स्कीम बनाकर गांव के लोगों का पैसा डबल करने के नाम से उनसे रकम लेना शुरू किया। शुरुआत में वह उन्हें 30 फीसदी ब्याज के साथ डबल करके पैसे वापस करने लगा। इससे उसकी प्रसिद्धि बढ़ती गई और लोग उसके फर्म में हजारों लाखों रूपये लगाने लगे। उसने गांव के ही युवकों को अपना एजेंट बना लिया और मोटी कमीशन भी देने लगा।

ग्रामीणों के लिए रोल मॉडल बना शिवा

दरअसल शुरुआत में शिवा ने लोगों द्वारा जमा किये गए रूपये ही ब्याज के रूप में लौटाने लगा। हालांकि वह लोगों को बताता था कि वह जमा किये गए रुपयों को क्रिप्टो करेंसी और शेयर में लगता है। बाद में जब करोड़ों रूपये जमा होने लगे तब उसने इसी रकम से महंगी गाड़ियां खरीदनी शुरू की। शिवा ने मर्सिडीज और बीएमडब्ल्यु जैसी गाड़ियां खरीदी तो उसके दोस्त भी पीछे नहीं रहे।

धीरे-धीरे ग्राम सरसींवा महंगी गाड़ियों और ट्रैक्टरों वाला गांव बन गया। शिवा की चमक-दमक को देखकर रायकोना के लोग उस पर जान छिड़कने लगे। वह इलाके के लिए रोल मॉडल बन गया। साहू परिवार साधारण लोगों की तरह ही जीवन जीता था, लेकिन जब से बेटा करोड़पति बना तब से परिवार के लोगों का रहन सहन बदल गया। बेटे के करोड़पति बनने के बाद पिता ने भी खेती किसानी और बढ़ई का काम छोड़कर बेटे के कामों में हाथ बंटाना शुरू कर दिया।

पता यह भी चला है कि शिवा ने रायपुर, बिलासपुर सहित छत्तीसगढ़ के कुछ जिलों में करोड़ों के मकान और प्लाट खरीद रखे हैं।

सोशल मीडिया में वायरल करता था VIDEO

रातों-रात करोड़पति बने शिवा साहू ने अपनी चमक-धमक दिखाने के लिए अपनी महंगी गाड़ियों के रील्स बनाकर सोशल मीडिया में डालना शुरू किया। इसी दौरान एक वीडियो में शिवा और उसके पास रखी करोड़ों की बाइक व कार को दिखाया गया था। वीडियो में दावा किया जा रहा था कि इस गांव के हर घर में लोगों के पास महंगी-महंगी गाड़ी है। वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हुआ था।

तब मच गया था बवाल…

पिछले दिनों सक्ती के एक ट्रांसपोर्टर सौरभ अग्रवाल ने अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से उधार की रकम लेकर लगभग दो करोड़ रूपये शिवा के फर्म में जमा कराये जाने की बात पुलिस से कही। साथ ही यह भी बताया कि हर महीने जमा रकम का 30% दिए जाने की बारी आयी तो शिवा उसे टालने लगा। बाद में उसने रकम देने से भी इंकार कर दिया।

सौरभ की शिकायत पर पुलिस ने शिवा को पूछताछ के लिए थाने लेकर पहुंची थी। शिवा जैसे ही थाने पहुंचा उसके समर्थन में रायकोना और आसपास के गांव से हजारों की संख्या में महिला, बुजुर्ग और युवाओं ने थाने का घेराव कर दिया। काफी प्रदर्शन के बाद पुलिस ने शिवा को छोड़ दिया था। इस वाकये के बाद शिवा अपनी लक्जरी कार के ऊपर खड़े होकर एक हीरो की तरह गांव पहुंचा था। उसे इस बात का अहसास नहीं था कि यहां से उसकी उलटी गिनती शुरू होने वाली है।

शिवा और उसके साथियों के खिलाफ हुई FIR

बाद में जब मीडिया में शिवा और उसके गांव की खबरें आने लगी और दबाव बढ़ना शुरू हुआ तब पुलिस ने शिवा और उसके दोस्तों मिथलेश साहू, झगेश साहू, सूर्यकांत साहू और बिंदा साहू के खिलाफ धारा 406, 409, 420, 34 के तहत जुर्म दर्ज कर लिया। इस मामले में खोजबीन के दौरान केवल बिन्दा साहू ही पुलिस की पकड़ में आया, शिवा और अन्य फरार हो चुके थे।

इस बीच पुलिस को पता चला कि शिवा होली मनाने गांव पहुंचा है। तब दल-बल के साथ गांव में छापेमारी की गई। इस दौरान शिवा पुलिस के आने से पहले ही निकल भागा। तब पुलिस शिवा के पिता और उसके दोस्त को थाने ले आयी। दरअसल शिवा ने अधिकांश गाड़ियां अपने पिता, अन्य रिश्तेदारों और दोस्तों के नाम पर खरीदी है। इसलिए पुलिस ने इस मामले में शिवा के पिता और दोस्त को भी पकड़ा है। फ़िलहाल उनसे पूछताछ की जा रही है। पुलिस का दावा है शिवा और अन्य आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

फिलहाल शिवा और उसके दोस्तों द्वारा खरीदी गई गाड़ियां सरसींवा थाने की शोभा बढ़ा रही हैं और पुलिस मामले में आरोपियों की खोजबीन और तथ्यों को जुटाने में लगी हुई है।

error: Content is protected !!