पटना। बिहार की राजधानी पटना में इन दिनों ‘सड़क शत्रु’ की तलाश की जा रही है। एक मुहिम के तहत इन तथाकथित शत्रुओं को ढूंढने के लिए CCTV की भी मदद ली जा रही है। आखिर कौन हैं ये सड़क शत्रु..? यह जानने के लिए पढ़िए यह खबर।
पटना नगर निगम इन दिनों “मेरी सड़क मेरी जवाबदेही” कार्यक्रम चल रहा है। पटना शहर बिहार की राजधानी है और इस शहर को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए पटना नगर निगम अब ऐसे लोगों की पहचान कर रहा है जो सड़क पर कचरा फेंकते हैं। CCTV से भी इसके लिए मदद ली जा रही है। ऐसे लोगों को ‘सड़क शत्रु ‘ का नाम देकर उनसे जुर्माना वसूला जा रहा है।

सफाई मित्रों को किया गया सम्मानित

हाल के दिनों में पटना नगर निगम ने सभी 75 वार्डो में सड़कों की सफाई अभियान को तेज कर दिया है। सड़क को साफ रखने वाले सफाई मित्रों की ओर से इस अभियान का शुभारंभ किया गया है। वहीं, अभियान की शुरुआत के दौरान सफाई मित्रों को सम्मानित भी किया गया है।

ऊपर वाला सब देख रहा है

नगर आयुक्त अनिमेष पराशर ने कहा है कि 75 सफाई निरीक्षकों को निर्देश दिया गया है कि किसी भी सूरत में सड़क गंदा करने वालों को नहीं छोड़ा जाए। बताया जाता है कि दो दिनों में इस अभियान के तहत 200 सड़क शत्रु की पहचान कर सभी पर 500- 500 रुपए जुर्माना लगाया गया है। इसके बाद इन सभी से गलती नहीं दोहराने का संकल्प करवाया गया।

निगम के एक अधिकारी ने बताया कि इसके लिए CCTV की मदद ली जा रही है। निगम की टीम प्रत्येक वार्ड में तैनात किए गए हैं, जो मुख्यालय के नियंत्रण कक्ष से जुड़े हैं। नियंत्रण कक्ष में कचरा फेंकने, दिखने के बाद सफाई निरीक्षक को इसकी खबर मिल रही है और तत्काल उनसे जुर्माना वसूल किया जा रहा है। इधर, नगर निगम की टीम सफाई के लिए लोगों को जागरूक भी कर रही है।

Loading

error: Content is protected !!