बलरामपुर। अक्सर शिकार के लिए बिछाए जाल में शिकारी खुद फंसकर अपनी जान गंवा बैठता है। ऐसा ही कुछ वाड्रफनगर निवासी जितेंद्र उर्फ मुन्ना के साथ हुआ, जो जंगली जानवरों के शिकार के लिए लगाए विद्युत तार की चपेट में आकर अपनी जान गंवा बैठा।

घटना वाड्रफनगर पुलिस चौकी अन्तर्गत भगवानपुर जंगल की है, जहां जंगली जानवर का शिकार करने के लगाए गए विद्युत तार की चपेट में आने से एक शख्स की मौत की खबर पर चौकी प्रभारी सहित अन्य स्टाफ घटना स्थल पहुंचे। शव का पंचनामा पश्चात शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए वाड्रफ़नगर के सिविल अस्पताल में भेजा गया।

मामले में विवेचना अधिकारी एएसआई राधेश्याम विश्वकर्मा ने बताया कि वाड्रफनगर के वार्ड नं. 15 से लगे जंगल में कुछ लोग जंगली जानवर का शिकार के उद्देश्य से देर रात जंगल में गए थे। इन्हीं में से एक जितेन्द्र उर्फ़ मुन्ना को छोडकर सभी वापस लौट गए। जितेंद्र के भाई के पूछने पर साथियों ने बताया कि वह जंगल में कही गुम हो गया है, और ढूंढ़ने पर भी नहीं मिला।

इसके बाद गांव वाले जितेन्द्र को ढूंढ़ने के लिए निकले। घटना स्थल पर जितेन्द्र मृत हालत में मिला। प्रथम दृष्टया ही यह प्रतीत हो रहा था कि उसकी मौत करंट लगने से हुई हैं। फिलहाल, वाड्रफनगर पुलिस इस मामले में मर्ग कायम कर मामले में शामिल लोगों का पता लगा रही है। साथ ही मौत की पूरी वजह तलाश रही हैं। पुलिस का कहना हैं जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा।

Loading

error: Content is protected !!