राजनांदगांव। चुनाव प्रचार में लगे पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस प्रत्याशी भूपेश बघेल ने आज रविवार को राजनांदगांव में पूरा दिन बिताया। इस दौरान वे स्थानीय स्टेशन रोड स्थित चर्च में पहुंचकर ईसाई समाज की प्रार्थना में शामिल हुए।

समाज के लोगों ने किया स्वागत

चर्च में पहुंचे पूर्व सीएम का समाज की ओर से आत्मीय स्वागत किया गया। चर्च के पास्टर ने उनके लिए विशेष रूप से प्रार्थना की। वहीं उन्होंने पूर्व सीएम को पवित्र किताब बाईबिल भेंट की। पूर्व सीएम के साथ कांग्रेस के स्थानीय नेता शामिल थे। महापौर हेमा देशमुख और शहर कांग्रेस अध्यक्ष कुलबीर छाबड़ा भी चर्च में उनके साथ रहे।

महापौर निवास में पार्षदों की बैठक ली

भूपेश बघेल का इसके बाद कांग्रेस नेताओं के घर पहुंचने का सिलसिला शुरू हुआ। उन्होंने महापौर हेमा देशमुख के रामाधीन मार्ग स्थित सरकारी आवास में पूर्व सीएम ने सौजन्य रूप से भेंट-मुलाकात की। महापौर के निवास में कांग्रेस प्रत्याशी बघेल ने पार्षदों से चुनावी तैयारी को लेकर चर्चा की। उन्होंने पार्षदों से शहर के सभी वार्डों में घोषणापत्र और महतारी योजना का फार्म भरवाने पर जोर दिया। कुछ पार्षदों ने योजना को लेकर आ रही व्यवहारिक दिक्कतों से उन्हें अवगत कराया। तत्पश्चात युवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष जितेन्द्र मुदलियार के निवास पर पूर्व सीएम ने भेंट-मुलाकात की। मुदलियार परिवार की ओर से उनका स्वागत किया गया। पूर्व सीएम ने पूर्व विधायक स्व. उदय मुदलियार के साथ बिताए पलों और राजनीतिक अनुभवों को साझा किया। झीरम घाटी हादसे से पूर्व के कार्यों को पूर्व सीएम ने याद किया। बघेल के पक्ष में जितेन्द्र मुदलियार की माता श्रीमती अलका मुदलियार ने भी प्रचार करने की इच्छा जाहिर की। सके बाद पूर्व सीएम वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अंजुम अल्वी के निवास पहुंचे। अल्वी ने शाल और गुलदस्ता भेंटकर उनका आत्मीय स्वागत किया। यह पहला मौका है, जब बघेल अल्वी के निवास पहुंचे। अल्वी परिवार ने उनका जोशीला स्वागत किया। आज पूरे दिन पूर्व सीएम का कांग्रेस के दिग्गज नेताओं के घर जाने का सिलसिला जारी रहा। इस बीच उन्होंने रईस अहमद शकील, निखिल द्विवेदी, डॉ. रमेश महोबे, सराफा व्यापारी अनिल बरड़िया, प्रेमचंद बाफना, सूर्यकांत जैन, उद्योगपति दामोदरदास मुंदड़ा, पूर्व विधायक इमरान मेमन, पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष शाहिद भाई समेत अन्य नेताओं के घर बारी-बारी से पहुंचे। बताया जा रहा है कि भेंट-मुलाकात की इस रणनीति के तहत वे नाराज कांग्रेसियों को मनाने में जुटे हुए हैं।

Loading

error: Content is protected !!