रायपुर। छत्तीसगढ़ मुस्लिम समाज की जानिब से एक प्रतिनिधि मंडल ने बिरनपुर हिंसा में जान गवाने वालो की विधवा अलहम बी और शकीला बी दोनो को आज ग्राम बिरनपुर पहुंचकर 5 – 5 लाख रूपये का चेक प्रदान किया गया। छत्तीसगढ मुस्लिम समाज ने फिर से पीड़ित के आश्रितों की मदद की।

गौरतलब है कि पिछले दिनों बिरनपुर में मामूली घटना मे तीन लोगों की मौत हो गई थी। मिल-जुलकर रहने वाले ग्रामीणों को इस अप्रत्याशित घटना ने झकझोर कर दिया था। कभी भी इस गांव मे इस प्रकार की घटना घटित नही हुई थी। आज भी गांव मे आपसी सौहार्द देखा गया। अब गांव मे शांति है। घटना को भूलकर गांव के लोग खेती किसानी में लगे हुए हैं।

इस मौके पर दुर्ग से फजल संजरी, राजनांदगांव से तनवीर अहमद, खैरागढ़ से शमसुल हुदा खान, गंडई से अय्यूब कुरैशी, जावेद खान और रायपुर से अकरम सिद्दीकी, मो. ताहिर, पत्रकार ज़ाकिर घुरसेना, केलाबाड़ी मस्जिद दुर्ग के मुतवल्ली शेख सिराज, जामा मस्जिद दुर्ग के मुतवल्ली रिज़वान खान तथा गांव के अन्य लोग सहित छत्तीसगढ़ मुस्लिम समाज के लोग मौजूद थे।

शासन से अब तक नहीं मिली मुआवजा राशि

बिरनपुर में हुई घटना में मृत मुस्लिम समुदाय के दो व्यक्तियों को अब तक केवल मुस्लिम समाज से ही सहायता राशि दी गई है, मगर जिला प्रशासन या राज्य शासन से अब तक कोई भी सहायता राशि इन्हे नहीं दी गई है। जिससे समाज में गुस्सा देखा जा रहा है। मुस्लिम समाज के तथाकथित रहनुमाओं की इस मामले में चुप्पी पर भी समुदाय के लोग सवाल उठा रहे है। हालांकि इन्हे अब भी उम्मीद है कि शासन इस तरह की घटनाओं के संबंध में बनाये प्रावधानों के तहत पीड़ित परिवार को सहयोग करेगा।

Loading

error: Content is protected !!