अंबिकापुर। जिले के प्रधान डाकघर में एक ग्राहक द्वारा अपने खाते में 1 लाख रुपए जमा करने पहुंचा, उसने कैशियर को जो नोट दिए थे उनमें 500-500 के 58 नोट नकली थे। पोस्ट मास्टर की सूचना पर कोतवाली पुलिस ने इस शख्स को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने झारखंड के एक व्यक्ति को पुराना हनुमान छाप सिक्का बेचा था। उसने ही ये नोट उसे दिए थे। पुलिस ने आरोपी को न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

लुंड्रा थाना क्षेत्र के ग्राम तुरियाबिरा निवासी कपिल गिरी का अंबिकापुर पोस्ट ऑफिस में खाता है। वह 14 मई को 1 लाख रुपए जमा करने पोस्ट ऑफिस में आया था। उसने 1 लाख रुपए का जमा पर्ची भरकर कैशियर को दिया। कैशियर द्वारा रुपए गिनने के दौरान 500-500 के 58 नोट नकली होना पाया गया।

काउंटिंग मशीन द्वारा भी उक्त जाली नोट को अलग कर दिया गया। मामले की जानकारी होने पर पोस्ट मास्टर ने इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

सिक्का खरीदने वाले ने थमा दिए जाली नोट

आरोपी कपिल गिरी ने पुलिस को बताया कि कुछ दिनों पूर्व उसने झारखंड के एक व्यक्ति को पुराना हनुमान छाप सिक्का बेचा था। इसके बदले उसने उसे 500-500 के 58 जाली नोट दिए थे।
उसने कुछ दिनों तक उक्त नोट को घर में ही रखा था। पुलिस का कहना है कि यह जानते हुए भी कि ये नोट नकली हैं, इसके बाद भी वह 58 नग नोट असली नोट के साथ मिक्स कर पोस्ट ऑफिस में जमा करने पहुंचा था।

Loading

error: Content is protected !!