बिलासपुर। जिले की पुलिस ने देह व्यापार के एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ किया है। इस कार्रवाई के दौरान तीन अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी कर 11 पुरुष व 5 महिला दलालों को पकड़ा गया तथा उनके चंगुल से 6 लड़कियों को छुड़ाया है। इनमें चार लड़कियां कोलकाता की रहने वाली हैं।

इस संबंध में आयोजित प्रेस वार्ता में बताया गया कि पुलिस को सूचना मिली कि अमेरी के साईं विहार अपार्टमेंट में रुखसार अहमद तथा कुछ अन्य लोग किराये का मकान लेकर देह व्यापार कर रहे हैं, साथ ही इनके द्वारा दूसरे राज्यों से भी लड़कियां लाई गई हैं। सिविल लाइन सीएसपी उमेश गुप्ता की टीम ने अपार्टमेंट के 11 और 13 नंबर के कमरे में छापा मारा।

छापे से दूसरे अड्डे का हुआ खुलासा

दोनों फ्लैट में कुछ लोग बैठे मिले। पूछताछ करने पर उन्होंने खुद को इस देह व्यापार का संचालक बताया। उन्होंने अपना नाम जावेद उर्फ रुखसार अहमद, नाजी अंसारी और महिला मधुबाला बर्मन, रेखा कुर्रे बताया। कमरे खुलवाने पर एक लड़का और लड़की संदिग्ध अवस्था में मिले। आरोपी रुखसार अहमद से पूछताछ करने पर उसके द्वारा दो अन्य ठिकानों पर देह व्यापार चलाया जाना बताया। तब पुलिस ने गोकुल धाम में उसके घर पर तथा आसमा सिटी फेस 2 में रहने वाली शांता गंधर्व के मकान पर भी छापा मारा।

धंधे की रकम और आपत्तिजनक सामग्रियां बरामद

इन स्थानों से कुल 65830 रुपये, 26 मोबाईल फोन, आपत्तिजनक सामग्री, शराब की बोतलें, एक पुरानी मोटर सायकल, जमीन तथा बैंक के कागजात, दो कोरे चेक बुक तथा दो कार जब्त कर लिए गए।

संचालक, दलाल और ग्राहक गिरफ्तार

आरोपियों के द्वारा किराये के मकान में अवैध रूप से देह व्यापार करना पाये जाने से मौके पर धारा 04, 05, 07 अनैतिक व्यापार निवारण अधिनियम 1956 के तहत अपराध दर्ज कर लिया गया। पुलिस ने 5 महिला और 11 पुरुषों को गिरफ्तार किया, जिसमें देह व्यापार का संचालक, दलाल और ग्राहक शामिल हैं। इनसे 7 लड़कियों को मुक्त कराया गया है जिनसे देह व्यापार कराया जा रहा था। इनमें 4 लड़कियां कोलकाता की हैं। पुलिस ने बताया कि इनके पुनर्वास की कार्रवाई की जा रही है।

गिरफ्तार लोगों में दूसरे जिलों के युवक भी शामिल

पुलिस द्वारा गिरफ्तार आरोपियों में गोकुल धाम कॉलोनी का रुखसार अहमद, साई विहार अपार्टमेंट का नाबिर अंसारी, सरजू बगीचा का चंदन कुमार सोनी, बगीचापारा सकरी का अजय कुमार चेकल, साईं विहार अपार्टमेंट सकरी का गौरव चौबे, मुड़ापार का दिनेश चंद्रा, पाली कोरबा का तामेश्वर चंद्रा, सरदार पटेल नगर दर्री का विकास अग्रवाल, जमनीपाली का सतीश गौतम, शिव विहार कॉलोनी सरकंडा का अफजल हुसैन, राजकिशोर नगर का दीपक ठाकुर, लाटा, जरहागांव की मधुबाला बर्मन, पलानसरी कबीरधाम की रेखा कुर्रे, साई विहार अपार्टमेंट अमेरी की लक्ष्मी चंद्रा, सुचित्रा विहार कॉलोनी मंगला की गीता शर्मा तथा आसमां कॉलोनी सकरी की शांता गंधर्व शामिल हैं। सभी आरोपियों के खिलाफ अनैतिक देह व्यापार निवारण अधिनियम 9 की धारा 4, 5 व 7 के तहत कार्रवाई की गई है।

छापामार टीम में सीएसपी गुप्ता के अलावा सकरी थाना प्रभारी अभय सिंह बैस, निरीक्षक भारती मरकाम, सिरगिट्टी थाना प्रभारी हेमंत आदित्य के अलावा आरक्षक व महिला आरक्षकों की टीम शामिल थी।

गौरतलब है कि इस तरह के छापे के दौरान जिन लड़कियों का इस्तेमाल देह व्यापर करते हुए पाया जाता है उन्हें सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक रेस्क्यू की प्रक्रिया अपनाई जाती है। ऐसी लड़कियों को पीड़ित मानते हुए उनके पुनर्वास का इंतजाम किया जाता है। इसी तरह की प्रक्रिया इस कार्रवाई में भी पूरी की गई।

Loading

error: Content is protected !!