Trending Now

जयपुर। हेरिटेज नगर निगम जयपुर की मेयर के पति सुशील गुर्जर का रिश्वत लेना भारी पड़ गया। ACB की टीम ने जयपुर नगर निगम की मेयर के पति को दो लाख की रिश्वत लेते हुएगिरफ्तार किया।

ACB ने सुशील गुर्जर के साथ दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है। ये गिरफ्तारी दो लाख रुपये की रिश्वत लेने के जु्र्म में की गई है। एसीबी के एडिशनल डायरेक्टर जनरल हेमंत प्रियदर्शी ने बताया है कि पट्टा जारी करने के मामले में मेयर के पति ने रिश्वत ली।

मेयर को पद से हटाया

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने मेयर को ही पद से हटा दिया है। पति को रिश्वत लेते पकड़े जाने के बाद अशोक गहलोत सरकार ने यह कार्रवाई की है।Y

मेयर के पति को मेयर के आवास पर रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया था। उस दौरान मेयर भी वहीं मौजूद थीं और उनके आवास से ​​40 लाख रुपये नकद बरामद किए गए। सरकार का कहना है कि मेयर भी इस भ्रष्टाचार में शामिल हो सकती हैं और मामले की जांच को प्रभावित कर सकती थी।

गहलोत सरकार ने देर रात जारी किया आदेश

राजस्थान सरकार ने देर रात एक आदेश में जयपुर हेरिटेज नगर निगम की मेयर मुनेश गुर्जर को निलंबित करने का आदेश जारी किया। मेयर के पति सुशील गुर्जर को बीते दिन ही राज्य के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने भूमि पट्टा जारी करने के बदले कथित तौर पर 2 लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था। मेयर को नगर निकाय सीट – वार्ड संख्या 43 से भी निलंबित कर दिया गया है।

क्या है मामला..?

ACB ने सुशील गुर्जर के साथ दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है और उनसे दो दिनों तक पूछताछ जारी है। पुलिस में दर्ज शिकायत में दावा किया गया कि सुशील गुर्जर, अपने सहयोगियों- नारायण सिंह और अनिल दुबे के माध्यम से एक भूखंड के लिए पट्टे के आवेदन को जल्द मंजूरी देने के लिए शिकायतकर्ता से ​​2 लाख रुपये की मांग कर रहा था। अधिकारियों ने शिकायत के आधार पर जाल बिछाया और उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

error: Content is protected !!