Trending Now

बीजापुर। बीजापुर जिले में लगभग 9-10 के बीच प्रेशर आइईडी की चपेट में आने से ग्राम छुटवाई का एक ग्रामीण बुरी तरह घायल हुआ है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक तर्रेंम थाना क्षेत्र में छुटवाई, स्कूलपारा में रहने वाला युवक माड़वी नंदा पिता भीमा माड़वी, उम्र 22 रविवार की सुबह अपने निजी ट्रेक्टर से काम के लिए तर्रेंम की ओर जा रहा था। इस दौरान छुटवाई व गुंडम के बीच तोयानाला के पास उसने ट्रेक्टर रोक कर शौच के लिए सड़क किनारे गया, जहां नक्सलियों के द्वारा लगाये गये प्रेशर आईईडी की चपेट में आने से ग्रामीण युवक नंदा का दाहिना पैर बुरी तरह से जख्मी हो गया। वहीं युवक के बाएं पैर में भी चोट आई है।

युवक के घायल होने की सूचना पर जवान यहां पहुंचे और सीआरपीएफ के फील्ड अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला चिकित्सालय पहुंचाया। जिले के तर्रेम थाना क्षेत्र के तोयानाला के पास की यह घटना है, जिसकी पुष्टि एसपी डॉ जितेंद्र यादव ने की है।

छत्तीसगढ़ का ईनामी नक्सली गढ़चिरौली में पकड़ाया

महाराष्ट्र की गढ़चिरौली पुलिस ने नक्सल मोर्चे में कार्रवाई करते हुए डेढ़ लाख के एक ईनामी नक्सली को गिरफ्तार किया है। पुलिस की गिरफ्त में आया नक्सली मूलत: छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले का रहने वाला है। उस पर गढ़चिरौली जिले में कई आपराधिक मामलों में शामिल होने का आरोप है, वहीं कई थानों में उसके विरूद्ध नामजद आपराधिक प्रकरण दर्ज है। पुलिस को लंबे समय से उसकी तलाश थी।

पुलिस के मुताबिक पेरमिली जंगल में गश्त कर रही फोर्स को एक संदिग्ध व्यक्ति नजर आया, जिसे पकड़कर पूछताछ में इस व्यक्ति की पहचान सोमा उर्फ दिनेश मासा के रूप में हुई। सोमा के खिलाफ गढ़चिरौली पुलिस ने ईनाम भी घोषित कर रखा था। उस पर डेढ़ लाख रुपए का ईनाम महाराष्ट्र सरकार द्वारा घोषित किया गया। हत्या, मुठभेड़, आगजनी एवं अन्य आपराधिक मामलों में सोमा की पुलिस को तलाश थी।

सुकमा में 8 माओवादियों का सरेंडर

सरकार के पूना नर्कोम अभियान यानि ”नई सुबह, नई शुरुआत” से प्रभावित होकर चार इनामी नक्सलियों समेत आठ माओवादियों ने सुरक्षबलों के सामने आत्म समर्पण कर दिया। नक्सलियों के लगातार समर्पण करने पर मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने ख़ुशी का इजहार किया है।

इन नक्सलियों ने किया समर्पण

आतंक का रास्ता छोड़ने वाले नक्सलियों में वेट्टी मासे शामिल है, जिस पर 2 लाख का इनाम पुलिस ने रखा था। सागर उर्फ देवा पर भी 1 लाख का इनाम पुलिस ने रखा था। देवा ने भी आज हथियार डाल दिए। हथियार डालने वालों में सोढ़ी तुलसी जिसपर एक लाख का इनाम था, पोडियम नंदे, वेट्टी सुक्का, वेट्टी हड़मा, कवासी देवा, कमलू सिंगा शामिल हैं। सरेंडर करने वाले सभी नक्सली सुकमा जिले के अलग अलग थाना क्षेत्रों के रहने वाले हैं। सभी नक्सली सालों से पुलिस पार्टी की रेकी करने और नक्सली बैनर पोस्टर लगाने के काम माहिर हैं। इनपर ग्रामीणों से लेवी वसूलने का भी आरोप है।

मुख्यमंत्री ने X पर किया ये पोस्ट

मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने आज सुकमा में नक्सलियों द्वारा किये गए समर्पण को लेकर X पर ट्वीट करते हुए लिखा है कि “सुकमा जिले में सक्रिय 4 ईनामी नक्सलियों सहित 8 नक्सलियों द्वारा आत्मसमर्पण किए जाने की सुखद खबर प्राप्त हुई। हमारी सरकार की “छत्तीसगढ़ नक्सलवाद उन्मूलन नीति” एवं “नियद नेल्लानार योजना” से प्रभावित होकर नक्सली बंदूक छोड़कर समाज की मुख्य धारा में लौट रहे हैं, जिनके पुनरुत्थान के लिए हमारी सरकार तत्पर है।”

error: Content is protected !!