Trending Now

चेन्नई। बहुजन समाज पार्टी के तमिलनाडु अध्यक्ष आर्मस्ट्रांग की हत्या कर दी गई है। घटना को उस वक्त अंजाम दिया गया, जब 47 साल के आर्मस्ट्रांग पेरम्बूर इलाके में अपने नवनिर्मित घर के पास दोस्त से बातचीत कर रहे थे। हमला करने वाले छह लोगों में से चार ने फूड डिलीवरी कंपनी ज़ोमैटो की टी-शर्ट पहन रखी थी।

तमिलनाडु बसपा अध्यक्ष आर्मस्ट्रांग की हत्या मामले में पुलिस ने आठ लोगों को हिरासत में लिया है। साथ ही चेन्नई पुलिस ने इस पूरे प्रकरण की तह तक जाने के लिए 10 स्पेशल टीमों का गठन किया है। आर्मस्ट्रांग को शुक्रवार शाम को चेन्नई के पेरम्बूर में उनके आवास के पास 6 लोगों की अज्ञात भीड़ ने हत्या कर दी। हत्यारों ने घटना को उस वक्त अंजाम दिया, जब आर्मस्ट्रांग अपने घर के सामने खड़े थे। अज्ञात हमलावरों ने उन पर चाकुओं से हमला किया। चाकुओं के वार से उनके शरीर से काफी मात्रा में खून बहा। आनन-फानन में पुलिस ने राहगीरों की मदद से उन्हें अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया। जिसके बाद डॉक्टरों की टीम ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

बसपा कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन

इस घटना के विरोध में बसपा कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की। इससे पहले बसपा कार्यकर्ता चेन्नई के राजीव गांधी जनरल अस्पताल के बाहर भी बड़ी संख्या में लोग जमा हुए, जहां बहुजन समाज पार्टी के तमिलनाडु अध्यक्ष आर्मस्ट्रांग का पार्थिव शरीर लाया गया। इस बीच, एआईए डीएमके नेता एडप्पादी के पलानीस्वामी ने बीएसपी तमिलनाडु के अध्यक्ष आर्मस्ट्रांग की मौत पर सत्तारूढ़ डीएमके पार्टी की आलोचना की। उन्होंने कहा कि अगर ऐसे नेता की हत्या कर दी जाती है तो राज्य में कानून-व्यवस्था का क्या मतलब है।

मायावती ने कठोर कार्रवाई की मांग

इस हत्या पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने सवाल खड़े करते हुए सख्त कार्रवाई की मांग उठाई तो मुख्यमंत्री स्टालिन ने हमलावरों की गिरफ्तारी की जानकारी सोशल पर मीडिया दी। स्टालिन ने हत्या पर अफसोस जताते हुए हमलावरों के पकड़े जाने की जानकारी दी। उन्होंने कहा, “बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष आर्मस्ट्रॉन्ग की हत्या स्तब्धकारी एवं अत्यंत दुःखद है। पुलिस ने रातों रात हत्या में शामिल लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।”

स्टालिन के खिलाफ चुनाव लड़ चुके हैं आर्मस्ट्रांग

बता दें कि आर्मस्ट्रांग पेशे से वकील थे और बसपा सुप्रीमो मायावती के बेहद खास थे। साल 2006 में उन्होंने वार्ड का चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में जीत हासिल करने के बाद वह काफी चर्चाओं में आए थे। इसके बाद ही बसपा सुप्रीमो मायावती को उन्होंने चेन्नई आमंत्रित किया था।

साल 2011 विधानसभा चुनाव में भी उन्होंने एमके स्टालिन के खिलाफ चुनाव लड़ा था। मगर चुनावों में उन्हें करारी हार का सामना करना पड़ा था। चेन्नई में आर्मस्ट्रांग की पहचान दलित-पिछड़ों के हक में आवाज उठाने वाले एक नेता के तौर पर थी।
आर्मस्ट्रांग इससे पहले चेन्नई निगम पार्षद रह चुके हैं। मायावती ने आर्मस्ट्रांग को दलितों की “मजबूत आवाज” बताया है।

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने कार्यकर्ताओं से “शांति बनाए रखने” की अपील की और तमिलनाडु सरकार से पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष के आर्मस्ट्रांग की हत्या के बाद दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा ।

इसे “अत्यंत दुखद और चिंताजनक घटना” बताते हुए मायावती ने कहा कि वह आर्मस्ट्रांग को श्रद्धांजलि देने और उनके परिवार के सदस्यों से मिलने के लिए रविवार को चेन्नई जाने की योजना बना रही हैं।

राहुल गांधी ने जताया शोक

बसपा नेता के. आर्मस्ट्रॉन्ग की हत्या पर कांग्रेस नेता और लोकसभा में विपक्ष के नेता राहुल गांधी ने भी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर शोक जताया। राहुल ने कहा, “बसपा के तमिलनाडु अध्यक्ष के. आर्मस्ट्रॉन्ग की निर्मम हत्या से गहरा सदमा लगा है। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदनाएं। उन्होंने बताया कि तमिलनाडु में कांग्रेस के नेता लगातार राज्य सरकार के संपर्क में है। मुझे भरोसा है कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि दोषियों को शीघ्र न्याय के कटघरे में लाया जाए।”

error: Content is protected !!