Trending Now

रायपुर। प्रदेश में मुख्यमंत्री श्रमिक पेंशन योजना के तहत 60 वर्ष की उम्र पूरी कर चुके आठ और श्रमिकों के पेंशन को श्रम मंत्री लखन लाल देवांगन के निर्देश पर जारी किया गया। छत्तीसगढ़ में निर्माण श्रमिकों के पेंशन योजना की शुरूआत 29 मार्च को की गई थी।

श्रम मंत्री, भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के अध्यक्ष लखन लाल देवांगन ने आठ और श्रमिकों का पेंशन जारी किया। देवांगन ने कहा कि प्रदेश की विष्णुदेव सरकार श्रमिकों की हितेषी है। सरकार की पूरी मंशा है कि श्रमिकों को योजना का अधिक से अधिक लाभ मिल सके। श्रमिकों के हित एवं उनके बेहतर जीवन यापन के लिए निर्माण श्रमिकों के पेंशन योजना का लाभ श्रमिको को दिया जा रहा है। जिसमें पात्र निर्माण श्रमिकों को पेंशन राशि सीधे उनके खाते में भेजी जाएगी। इस योजना के तहत ऐसे पंजीकृत निर्माण श्रमिक जिनकी आयु 60 साल पूरी चुकी है, उन श्रमिकों को हर महीने 1500 रुपये पेंशन के रूप में दिए जाएंगे। अगर पेंशनधारी निर्माण श्रमिक की मृत्यु हो जाती है तो निर्माण श्रमिक के आश्रित (पति/पत्नी) को 750 रूपए मासिक पेंशन दिए जाने का प्रावधान है।

इस योजना के तहत महासमुंद के 2 श्रमिक, बेमेतरा के 4 श्रमिक, राजनांदगांव और दुर्ग के एक-एक श्रमिक को पेंशन जारी किया गया है।

error: Content is protected !!