Trending Now

रायपुर। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) ने बीजेपी नेता रतन दुबे की हत्या की जांच के लिए बस्तर संभगा के कई नक्सल एरिया में बड़ा तलाशी अभियान चलाया। एनआईए ने कई गांवों के 12 जगहों पर सर्च ऑपरेशन चलाया। इस दौरान अनेक मोबाइल फोन, एक टैबलेट और 9.90 लाख रुपये कैश जब्त किया गया।

चुनाव प्रचार के दौरान नक्सलियों ने की थी हत्या

रतन दुबे की चार नवंबर को 2023 के विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले के कौशलनार साप्ताहिक बाजार में कुल्हाड़ी से हमला कर हत्या कर दी गई थी। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) की अब तक की जांच के अनुसार प्रतिबंधित भाकपा (माओवादी) से जुड़े हथियारबंद हमलावरों ने भाजपा नेता की हत्या की थी।

नक्सल इलाकों में NIA की तलाशी

भाजपा नेता रतन दुबे मर्डर केस में जांच के बाद एनआईए ने बयान जारी किया। जिसमें कहा गया कि- “नक्सलियों के पूर्वी बस्तर डिवीजन के तहत बयानार एरिया कमेटी के विभिन्न संदिग्धों और ओवरग्राउंड वर्कर्स से जुड़े परिसरों पर कार्रवाई की गई। एनआईए ने तोयनार, कौशलनार, बडेनहोद, धौड़ाई और कोंगेरा गांवों में 12 जगहों पर गहन तलाशी ली।

छापे में मिले लाखों रुपये

तलाशी के दौरान कई मोबाइल फोन, एक टैबलेट और 9.90 लाख रुपये नकद जब्त किए गए, साथ ही नक्सल विचारधारा का प्रचार करने वाले पर्चे और साहित्य भी जब्त किए गए।

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2023 में पहले चरण से पहले 4 नवंबर को नक्सलियों ने नारायणपुर में बीजेपी नेता रतन दुबे की चुनाव प्रचार के दौरान हत्या कर दी थी। घटना की जांच स्थानीय पुलिस कर रही थी। एनआईए ने फरवरी में रतन दुबे मर्डर केस अपने हाथ में लिया और जांच शुरू की। एजेंसी ने पहले ही एक आरोपी के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल कर दिया है।

error: Content is protected !!