Trending Now

Pandit Pradeep Mishra Controversy: कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा ने शनिवार को बरसाना (Barsana) पहुंचकर राधा रानी से माफी मांगी। राधा रानी पर दिए गए विवादित बयान के बाद पंडित प्रदीप मिश्रा की काफी आलोचना हुई। संत समाज ने उनसे माफी मांगने की शर्त रखी थी। जिसके बाद प्रदीप मिश्रा शनिवार दोपहर बरसाना पहुंचे, जहां उन्होंने राधा-रानी को दंडवत प्रणाम किया और नाक रगड़कर माफी मांगी। इस दौरान बड़े पैमाने पर सुरक्षा के इंतजाम किए गए थे।

ब्रजवासियों से भी मांगी माफ़ी…

राधा-रानी (Radha Rani) से माफी मांगने के बाद प्रदीप मिश्रा मंदिर से बाहर निकले और हाथ जोड़कर ब्रज वासियों का अभिनंदन किया। मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि सभी ब्रजवासियों को बहुत-बहुत बधाई। राधा-रानी के दर्शन करने के लिए यहां पधारा हूं। मैं ब्रजवासियों के प्रेम की वजह से यहां आया हूं। लाडली जी ने खुद ही इशारा कर मुझे यहां बुलाया, इसलिए मुझे यहां आना पड़ा।

उन्होंने कहा कि मेरी वाणी से किसी को ठेस पहुंची हो तो उसके लिए माफी मांगता हूं। मैं ब्रजवासियों के चरणों में दंडवत प्रणाम कर माफी मांगता हूं। मैं लाडली जी और बरसाना सरकार से क्षमा चाहता हूं। सभी से निवेदन है कि किसी के लिए कोई अपशब्द न कहें। राधे-राधे कहें, महादेव कहें। मैं सभी महंत, धर्माचार्य और आचार्य से माफी मांगता हूं।

प्रदीप मिश्रा ने दिया था ये विवादित बयान

पंडित प्रदीप मिश्रा ने बीते दिनों छत्तीसगढ़ में एक कथा के दौरान राधा रानी पर एक बयान दिया था। उन्होंने कहा था, “राधा रानी श्री कृष्ण की पत्नी नहीं हैं, उनका छाता निवासी अनय घोष के साथ विवाह हुआ था। राधा जी बरसाना की नहीं, रावल की रहने वाली थी। उनके पिता वर्ष में एक बार कचहरी लगाने आते थे, इसलिए उस स्थान का नाम बरसाना पड़ गया।”

प्रदीप मिश्रा के इस बयान के बाद संत समाज ने नाराजगी जाहिर की थी। मथुरा के संत प्रेमानंद (Premanand Maharaj) ने भी आपत्ति दर्ज कराई थी। उन्होंने कहा कि व्यास मंच पर बैठने से पहले किसी भी व्यक्ति को अपने गुरुओं से कथा का रहस्य जानना चाहिए और पूरा ज्ञान प्राप्त करना चाहिए। उसके बाद ही किसी भी प्रसंग के बारे में सावर्जनिक रूप से बोलना चाहिए। प्रेमानंद महाराज ने यह भी कहा कि अगर वह श्रीजी के विषय में कुछ भी जानना चाहते हैं तो वृंदावन की रज में बैठ जाएं. उन्हें यहां ज्ञान प्राप्त हो जाएगा। इसके बाद से प्रदीप मिश्रा के खिलाफ लोगों की नाराजगी बढ़ती गई।

error: Content is protected !!