Trending Now

सारंगढ़ | छत्तीसगढ़ के सारंगढ़-बिलाईगढ़ जिले का गांव है रायकोना, जहां के लोगों के पास अचानक बहुत पैसा आ गया। यहां के युवाओं के पास इतना कैश आ गया है कि वे मर्सिडीज और बीएमडल्यू जैसी महंगी गाड़ियां, कैश में खरीदने लगे। गांव में ट्रैक्टरों की भी बाढ़ आ गई है। सरसीवां थाना क्षेत्र का रायकोना गांव पिछले दिनों तब प्रकाश में आया, जब पुलिस यहां के एक युवक को पकड़कर पूछताछ के लिए थाने ले आयी, तब बड़ी संख्या में यहां के युवाओं ने पहुंचकर विरोध जताया। ऐसे में पुलिस को उस युवक को छोड़ना पड़ा था। आज इसी युवक और उसके साथियों की पुलिस तलाश कर रही है।

हर महीने 30% राशि ब्याज में देने का भरोसा

रायकोना गांव का शिवा साहू कुछ दिनों पहले यहां के युवाओं के लिए रोल मॉडल बन गया था। दरअसल शिवा एक ऐसी स्कीम लेकर आया, जिसे सुनकर दूर-दूर से लोग उसके पास अपना पैसा जमा करने पहुंचने लगे। शिवा की कंपनी में जितनी भी रकम लगाएंगे, हर महीने उसकी 30% राशि अतिरिक्त देने और 08 माह पूर्ण हो जाने पर रकम दोगुना देने का प्लान लोगों को बताया गया। गांव के ही युवा बड़ी संख्या में इस कंपनी के एजेंट बन गए।

चंद महीने में ही दो से तीन गुना राशि वापस देने का दावा रायकोना गांव निवासी शिवा साहू और उनके साथियों द्वारा किया जा रहा था। यह सुनकर बड़ी संख्या में लोग शिवा के ऑफिस में पहुंचकर अपने पैसे उसके पास जमा करने लगे। प्रारम्भ में लोगों को अतिरिक्त रुपयों का लाभ दिया भी गया, मगर बाद में स्थिति उल्टी हो गई। लोगों द्वारा जमा कराये गए पैसे से ही शिवा ने महंगी गाड़ियां खरीदने के साथ ही जिन्हे एजेंट बनाया उन लोगों ने ट्रैक्टर और जमीन, मकानखरीद लिया है। इस बीच सक्ती निवासी एक व्यापारी की शिकायत पर शिवा और उसके साथियों के खिलाफ सरसीवां थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने रविवार को शिवा के एक एजेंट साथी को गिरफ्तार भी कर लिया है। वहीं बाकी लोग फरार हो गए हैं।

फायदे के लालच में लगा दिए 2 करोड़ रूपये

सक्ती निवासी सौरभ अग्रवाल (28) ट्रांसर्पोटिंग का काम करता है, अग्रवाल ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराया हैं कि सारंगढ़- बिलाईगढ़ जिले बिलाईगढ़ ब्लॉक के सरसीवां के रायकोना निवासी शिवा साहू और उसके साथियों द्वारा शेयर मार्केट और क्रिप्टो करेंसी में पैसा लगाने पर हर महीने 30 प्रतिशत अतिरिक्त राशि देने व 8 माह पूर्ण होने पर रकम दोगुना करने का लालच देकर 2 करोड़ रुपए लेकर धोखाधडी की। सरसीवां थाने में सौरभ की शिकायत पर धारा 420 के तहत अपराध दर्ज किया गया है।

बड़ी संख्या में लोगों ने जमा किया पैसा

सौरभ अग्रवाल ने बताया कि वह जनवरी 2024 में जैजेपुर आए हुए थे, जहां जैजेपुर निवासी वृंदा साहू से मुलाकात करने आया हुआ था, तब उसने सौरभ को बताया कि रायकोना थाना सरसींवा निवासी शिवा साहू, शेयर मार्केट – क्रिप्टो करेंसी में पैसा लगाता है जिसके एवज में 30 प्रतिशत अतिरिक्त राशि एवं 8 माह में दोगुना रकम करता है। तब सौरभ अपने साथ वृंदा साहू, माइकल साहू, सक्ती निवासी नरेन्द्र साहू के साथ 10 जनवरी को रायकोना शिवा साहू के ऑफिस में गया, जहां काफी लोग उसके ऑफिस में पैसा जमा कर रहे थे। सौरभ और उसके मित्रों को शिवा साहू स्कीम बताई। इससे प्रभावित सौरभ सहित 4 लोगों ने मिलकर नगद दो करोड़ रुपए हफ्ते भर बाद शिवा को देने की बात कही। इस रकम में तरूण साहू ने 26 लाख रुपए, सरिया के दीपक अग्रवाल ने 32 लाख रूपए, कंचनपुर के कमल प्रधान ने 40 लाख रुपए और विश्वजीत खाण्डेकर ने 20 लाख रूपए तथा सौरभ ने रिश्तेदारो से लिया हुआ 82 लाख रुपए, कुल दो करोड़ रुपए शिवा साहू के साथी झगेश साहू के हाथ में दिए।

अतिरिक्त राशि नहीं मिली तो ठगी का हुआ अहसास

सौरभ अग्रवाल ने पुलिस को बताया कि स्कीम के मुताबिक उसे हर महीने कुल रकम की 30%अतिरिक्त राशि शिवा साहू द्वारा दी जनि थी, मगर डेढ़ माह बीत जाने के बाद भी इनके द्वारा कोई अतिरिक्त राशि सौरभ को नहीं दी गई।
धोखाधड़ी का अहसास होने पर सौरभ और उनके साथियों द्वारा दिये गये दो करोड़ रुपए वापस मांगे गए, मगर हीला-हवाला करने और और कुछ बैठकों के बाद रकम वापस करने से इंकार कर दिया गया।

इस शिकायत पर पुलिस ने सौरभ की शिकायत पर शिवा, मिथलेश, झगेश, सुर्यकांत, बृंदा साहू के खिलाफ धारा 420, 406, 409, 34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया। ।

गांव के हीरो की तरह थाने से लौटा

दरअसल 15 दिनों पूर्व शिवा साहू के खिलाफ थाने में शिकायत होने के बाद उसे सरसीवां पुलिस ने थाने में बुलाया। शिवा ने वाइस मैसेज भेजकर अपने सारे साथियों को थाने में बुला लिया, वहां पर हंगामा करवाना शुरु कर दिया। थाने में बुलाने भर से ग्रामीण अंचल के लगभग 2 हजार से अधिक ग्रामीण ट्रैक्टर में सवार होकर आधी रात को सरसीवां थाना पहुंच गए और जमकर हुड़दंग मचाया। आधी रात तक चले इस हंगामा में जिले के आला पुलिस अधिकारियों और पुलिस बल को व्यवस्था को बनाने में काफी पसीना बहाना पड़ा। किसी तरह से पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित किया और पूछताछ के लिये थाने में बुलाये गए शिवा को छोड़ा तब जाकर माहौल शांत हुआ।

पुलिस ने जब शिवा को छोड़ा तो थाने से बाहर निकल कर महंगी कार के रूफ टॉप में खड़े होकर शिवा नेताओं के जैसे अपने गांव तक गया और शक्ति प्रर्दशन किया। लेकिन लगातार मामला सुर्खियों में आने के बाद पुलिस ने शनिवार को उसके खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है।

एक आरोपी को किया गिरफ्तार

सौरभ की शिकायत के आधार पर अपराध दर्ज होंने के बाद सरसिवा पुलिस ने शिवा के एक साथी बृंदा साहू को गिरफ्तार कर रिमांड में लिया है। हालांकि बाकी आरोपी अभी फरार बताए जा रहे है। दो दिनों पहले इस मुद्दे पर वित्त ओपी चौधरी रायगढ़ पहुंचे थे, तब पत्रकारों ने उनसे इस संबंध में सवाल पूछा था, जिसमें उन्होंने कहा था कि जो भी गलत होगा, उस पर कार्रवाई होगी।

शिवा करता था ये काम..!

इस पूरे खेल का मास्टर माइंड शिवा साहू एक बढ़ई है, और कुछ साल पहले तक उसके पास कुछ भी नहीं था, लेकिन अब अचानक उसके पास बहुत पैसा आने लगा। हालांकि उसके पास जिनती भी गाड़ी है, वह सब दूसरों के नाम पर है। बताया जा रहा है कि वह लोगों को पैसे कई गुना बढ़ाकर देने का वादा करता था और बहुत से लोगों को उसने दिया भी है। 2021 से पैसे को दोगुना और तीनगुना पैसा शुरु किया था, उसके घर पर हमेशा लोगों की भीड़ लगी रहती है। लोग पैसा नगद जमा कराने के लिए पहुंचते है।

आरोपी जल्द होंगे गिरफ्तार – डीएसपी

सारंगढ़ बिलाईगढ़ के डीएसपी मनीष कुंवर ने बताया कि इस मामले में हमने शिकायत के आधार पर शिवा और उसके साथियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है, हमारी जांच में शिवा के खिलाफ काफी साक्ष्य भी मिला है। उसके एक साथी एजेंट को हमने अभी गिरफ्तार किया है, वहीं शिवा अपने साथियों के साथ फरार हो गया है, उसकी खोजबीन की जा रही है, उसकी गिरफ्तारी जल्द की जाएगी।

‘शिवा के खाते में 4 करोड़ रूपये जमा कराये’

गिरफ्तार बृंदा साहू ने अपने बयान में बताया कि उसने लोगों से जमा किये गए लगभग 04 करोड़ रूपये मुख्य आरोपी शिवा साहू के एक्सीस बैंक एवं आईडीएफसी बैंक के खाते में जमा कराये और कमीशन के तौर पर 30 प्रतिशत राशि हासिल कर उससे हुण्डई कार खरीदी। बृंदा की गिरफ्तारी कर उसे न्यायलय में पेश करते हुए उप जेल सारंगढ़ में दाखिल कर दिया गया है।

शिवा ने रकम जमीन और मकानों में किया निवेश

बेवकूफ और लालची किस्म के लोग लाभ के फेर में अपने गाढ़े पसीने की कमाई शिवा की कंपनी में लगाते रहे और उधर शिवा ने इन्हीं पैसों से महंगी गाड़िया खरीदी, जमीन और मकानों में निवेश किया। शिवा और उसके साथी युवाओं के पास इतना कैश आ गया कि वे मर्सिडीज और बीएमडल्यू जैसी महंगी गाड़ियां कैश में खरीदने लगे। शिवा ने बिलासपुर, रायपुर सहित बड़े शहरों जमीन और मकानों की खरीदी की है। शिवा जब मर्सिडीज कार लेकर घर आये तब उसकी भी रील बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर किया।

 

error: Content is protected !!