लखनऊ। संदिग्ध हालत में हुई बंदी की मौत मामले में डिप्टी जेलर सहित चार लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप है कि मृतक को रुपये देने के लिए अमानवीय तरीके से प्रताड़ित किया गया था।

सीतापुर जिला कारागार में बंदी की मौत के मामले में न्यायालय के आदेश पर डिप्टी जेलर समेत तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। शहर कोतवाली पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है। मिश्रिख निवासी बबलू सिंह छेड़छाड़, पॉक्सो और गैंगस्टर के मामले में जिला कारागार में बंद था।

पैसे नहीं देने पर करते थे मारपीट

आरोप है कि जेल के अंदर डिप्टी जेलर विजयलक्ष्मी गुप्ता, बबलू सिंह से पैसे की मांग करती थी। पैसे ना देने की चलते उसे प्रताड़ित किया जाता था। 14 अप्रैल 2023 को बबलू सिंह को बुरी तरह से पीटा गया। उसका समुचित इलाज भी नहीं कराया गया जिससे उसकी मौत हो गई।

पीएम रिपोर्ट के बाद भी नहीं हुई करवाई

मृतक की मां सीमा सिंह ने मामले की शिकायत पुलिस से की थी। इसके बाद पोस्टमार्टम कराया गया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। पीड़िता ने न्यायालय का सहारा लिया।

शहर कोतवाल आलोक मणि त्रिपाठी ने बताया कि डिप्टी जेलर समेत जिला कारागार में तैनात फार्मासिस्ट शैलेंद्र वर्मा, मुख्य चीफ सुधांशु श्रीवास्तव व अन्य अज्ञात जेल कर्मियों पर हत्या की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है।

Loading

error: Content is protected !!