Trending Now

रायपुर। रायगढ़ के पूर्व विधायक विजय अग्रवाल के पुत्र भरत अग्रवाल, बीजेपी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के ज़िलाध्यक्ष रविंद्र भाटिया ने सैकड़ों लोगों के साथ मिलकर उड़ीसा के एक कोल वाशरी पर कब्जे को लेकर जमकर गुंडागर्दी की। इस दौरान देशी कट्टा व पिस्टल से फायरिंग व बम फेंके जाने की भी जानकारी मिली है। रायगढ़ के ही दो गुटों में हुए गैंगवार के इस बहुचर्चित मामले में सुंदरगढ़ पुलिस ने दोनों आरोपियों के साथ ही सैकड़ों लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। इस हमले में 7 लोग घायल हुए हैं।

पुलिस ने 17 को किया गिरफ्तार

अब तक पुलिस ने इस हमले में शामिल 17 लोगों को अरेस्ट किया है। पार्टनरशिप विवाद को लेकर ओडिशा में हुए गैंगवार का असर रायगढ़ में भी पड़ने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है। रायगढ़ के दो प्रभावशाली व धनाढ्य परिवार के बीच पिछले कुछ दिनों से चल रहे विवाद ने गुरूवार की रात हिंसक शक्ल अख्तियार कर लिया।

पार्टनरशिप और कब्जे का विवाद

इस फसाद की पूरी जड़ है कोल वॉशरी को रायपुर की एक फर्म को लीज पर दिया जाना। इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक मेसर्स भाटिया एनर्जी व मिनरल्स (सुंदरगढ़) प्राईवेट लिमिटेड नामक कोल वॉशरी, बरपाली थाना हिमगीर में संचालित है। इस कंपनी के डॉयरेक्टर रवि गुप्ता व विमल कुमार शर्मा रायगढ़ के रहने वाले हैं। वहीं पूर्व विधायक विजय अग्रवाल के पुत्र भरत अग्रवाल की भी इस कंपनी में पार्टनरशिप है। विमल शर्मा व रवि गुप्ता की साझेदारी को लेकर पिछले कुछ समय से भारत अग्रवाल के साथ तनातनी चल रही थी। इस व्यावसायिक संघर्ष का समाधान करने के उद्देश्य से सामाजिक तौर पर कई बार बैठकें हुई मगर विवाद का हल नहीं निकला।

दोनों पक्षों में विवाद चल ही रहा था कि इस बीच मेसर्स भाटिया एनर्जी एंड मिनरल्स के डायरेक्टरों ने कोल वॉशरी को रायपुर की एक फर्म मेसर्स आंजनेय कोल जंक्शन प्राईवेट लिमिटेड को लीज पर दे दिया, जिसके डॉयेक्टर राहुल फरमानिया व गौरव अग्रवाल हैं।

दूसरे को कब्ज़ा दिलाया तो पहुंच गए हमला करने

भाटिया एनर्जी के डायरेक्टरों ने गुरूवार 4 जुलाई को कोल वॉशरी को आंजनेय कोल जंक्शन को हैण्डओवर कर दिया, जिसके बाद यह झगड़ा बढ़ गया। गुरूवार की रात लगभग 40 गाड़ियों में सवार रायगढ़ व उड़ीसा के लोगों ने भाटिया एनर्जी पर हमला बोल दिया। सुंदरगढ़ पुलिस के मुताबिक, हमलावर सांघातिक हथियारों से लैस थे। इस दौरान उग्र भीड़ ने सुंदरगढ़ के ट्रांसपोर्टर बादल सिंह व आकाश की निर्मम पिटाई कर दी। इस घटना में बादल व एक अन्य युवक को गंभीर चोटें आई है। हमलावरों ने कोल वॉशरी को भी नहीं बख्शा और कई राऊण्ड फायरिंग की।

उग्र भीड़ ने इनोवा समेत कई गाडिय़ों को तहस-नहस कर दिया और कोल वॉशरी में भी बुरी तरह तोडफ़ोड़ किया। इस दौरान डॉयरेक्टर रवि गुप्ता के बड़े भाई पंकज गुप्ता किसी तरह जान बचाकर भागने में कामयाब हुए।

पुलिस ने FIR में 13 धाराएं लगाईं

इस मामले को लेकर हेमगिरी थाने में राज यादव की ओर से FIR दर्ज कराई गई है।जिसमें 25,27 आर्म्स एक्ट सहित भारतीय न्याय संहिता की 13 धाराएं जोड़ी गई हैं। FIR के ब्यौरे में लिखा गया है कि 04.07.2024 को शाम लगभग 04.30 बजे जब वह कोल वाशरी, गर्जन बहाल में काम कर रहा था, उस समय भरत अग्रवाल, निवासी- रायगढ़, रविंदर भाटिया, उसका बेटा, निर्मल शर्मा, निवासी- रंगाली ओडिशा तथा लगभग 200 से 250 लोग वाहन संख्या CG-13-AW-4184, CG-13-VD-8589 के साथ आए। सीजी-13-एआर- 0478, सीजी-13-एआर-3539, सीजी-13-एएच-8011, सीजी-13-एएच-3680, सीजी-13-जेड-1255, सीजी-13-बीए-2202 एवं अन्य 10 से 15 चौपहिया गाड़ियों से वाशरी में आए और उसे एवं उसके दोस्तों बादल सिंह, आकाश यादव एवं मंटू तोलानी पर तलवार, लोहे की रॉड, बांस, डंडे से हमला कर दिया। उन्होंने उनके वाहन क्रमांक ओडी-16-डी-6868 को तोड़ दिया और उनमें से एक ने उस पर पिस्तौल से लगभग 10 से 15 राउंड फायर किए। लेकिन वह वहां से भाग निकला और इस दौरान उसे गंभीर चोटें आईं, वे सभी उसे जान से मारने की नीयत से आए थे। सभी आरोपियों ने उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी। उन्होंने बंदूक दिखाकर जबरदस्ती नकदी, सोना, लॉकेट, मोबाइल फोन छीन लिया। उन्होंने बादल और आकाश यादव को भी बंदूक की नोंक पर अगवा कर लिया। उन्होंने वाशरी के दूसरे वाहनों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया।

उड़ीसा के हेमागिरी थाने में दर्ज इस प्राथमिकी में भारतीय न्याय संहिता याने BNS के तहत धाराएं लगाई गई हैं। इनमें 310(2), 311, 115(2), 117(2),118(2),109, 140(1),324(4),324(5),61(1),351(2),351(3),324(6) और आर्म्स एक्ट की धारा 25, 27 प्रभावी की गई है।

घायलों में एक की हालत गंभीर

कोल वाशरी में हुईआगजनी, तोड़फोड़ व हिसंक झड़प की इस घटना में 7 लोग घायल हुए हैं, जिनमें एक की हालत गंभीर बताई जा रही है। सभी घायलों में दो को रायगढ़ के ही एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। सुंदरगढ़ एसपी ने इस मामले की जांच के लिए 15 पुलिस अफसर-कर्मचारियों की टीम बनाई है, जो छत्तीसगढ़ में भी गिरफ्तारियां करेंगी।

इसी कड़ी में सुंदरगढ़ से फोरेंसिक एक्सपर्ट्स आज घटनास्थल पहुंचे। इस टीम ने मौके पर पहुंचकर गोलियों के खोखे व विस्फोटक की जांच की।

error: Content is protected !!