Trending Now

रायपुर। संसदीय सचिव एवं विधायक विकास उपाध्याय अपने समर्थकों के साथ खमतराई में खाने का तेल, टमाटर, हरी सब्जी, गैस सिलेंडर के साथ दो अर्थी सजाकर अनोखा विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान उपाध्याय ने कहा कि आज आम जनता की हालत जिंदा लाश के बराबर हो गई। घरेलु सामानों के साथ ही रोजाना चूल्हें में इस्तेमाल होने वाले वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे है इससे आम जनता काफी परेशान है और दूसरी ओर नरेंद्र मोदी मन की बात करने में व्यस्त है।

राजधानी रायपुर के खमतराई इलाके के गांधी मैदान पर बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता पहुंचे और यहां आम आदमी की अर्थी के सामने सारे महंगे सामानों को सजाया गया। प्रदर्शन के दौरान विकास उपाध्याय ने कहा कि पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस, खाद्य सामग्री, टमाटर और सब्जियों की बढ़ती कीमतों ने आम आदमी को परेशान कर दिया है। देश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है और आज पीएम मोदी मन की बात कह रहे हैं लेकिन महंगाई की बात कोई नहीं कर रहा, जनता की बात कोई सुन नहीं रहा। उन्होंने कहा कि ये प्रदर्शन नहीं बल्कि आम आदमी की एक मार्मिक अपील है कि महंगाई कम की जाए।

अर्थी सजाकर प्रदर्शन करने की वजह बताते हुए कहा कि लोग गैस सिलेंडर रिफिल नहीं करा पा रहे, रोजमर्रा की जरूरतों के सामान नहीं खरीद पा रहे, टमाटर समेत कई सब्जियां महंगी हो गई है। प्रदेश में आज बीजेपी के नेता पंडाल में पीएम मोदी की मन की बात सुन रहे हैं लेकिन लोगों के मन की बात सुनने का उनके पास समय नहीं है।

जल संरक्षण के लिए पार्षद अमर बंसल का अनोखा अभियान

उधर पर्यावरण संरक्षण को लेकर रायपुर नगर निगम के वार्ड नंबर 39 के भाजपा पार्षद अमर बंसल ने अनोखा जन जागरण अभियान शुरू किया है। स्वामी आत्मानंद करबला सरोवर में बारिश के बीच पार्षद अमर बंसल ने सांकेतिक अर्ध जल समाधि लेकर जल संरक्षण की अलख जगाने का काम किया है। दरअसल, BJP पार्षद अमर बंसल रायपुर के एक तालाब में कूद गए। पानी में जाकर उन्होंने धार्मिक चीजों के विसर्जन का विरोध किया। चौबे कॉलोनी, समता कॉलोनी इलाके के पार्षद बंसल ने कहा- तालाब में अलग-अलग धर्मों से जुड़ी चीजों का विसर्जन होता है। इससे तालाब का पानी दूषित हो रहा है। पार्षद ने कर्बला तालाब में जाकर, तख्ती लेकर सामाज के लोगों को जागरुक करने की बात कही। इस तख्ती में लिखा है- स्वामी आत्मानंद सरोवर चौबे कालोनी की पुकार, पूजा सामग्री डालकर मुझे गंदा न करें।

पार्षद अमर बसंल ने बताया कि शहर के तालाबो की स्वच्छता को लेकर प्रशासनिक सख्ती और राष्ट्रीय हरित ट्रिब्यूनल के दिशा-निर्देश के बाद भी नगर निगम की उदासीनता के चलते शहर भर की तालाब प्रदूषित है। त्योहारों, अन्य धार्मिक अवसरों पर किसी भी धार्मिक समुदाय से जुडे श्रद्धालु पूजन, रासायनिक सामग्री का विसर्जन तालाबों में कर रहे हैं। इस मुद्दें को लेकर वे सुबह से लेकर शाम तक निरंतर अर्ध जल समाधि से जनजागृति का संदेश दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनता के स्वास्थ्य हितों से जुड़े इस प्रकार के मुद्दे उठाना निरंतर जारी रहेगा।

प्रतिमा विसर्जन के लिए बनवाया था कुंड

पार्षद बंसल जनता से जुड़े मुद्दे पर किसी भी स्तर पर अपनी बात रखने में नहीं हिचकते है। सभी धर्मों के प्रति समान भाव रखते हुए स्वच्छ भारत के निर्माण में एक अहम कदम उन्होंने पहले भी उठाया था। गणपति और दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के समय पार्षद अमर बंसल ने कुंड बनवाया था और लोगों से प्रतिमा का विसर्जन कुंड में करने की अपील करते थे। इस बार उन्होंने पर्यावरण संरक्षण को लेकर करबला सरोवर में सांकेतिक जलसमाधि ली।

error: Content is protected !!