नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट से मिली अंतरिम ज़मानत के बाद तिहाड़ जेल से रिहा हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि अगर लोगों ने झाड़ू का बटन ज़ोर से दबाया तो उन्हें वापस जेल नहीं जाना पड़ेगा।

झाड़ू आम आदमी पार्टी का चुनाव चिह्न है। सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल को 1 जून तक के लिए ज़मानत दी है। 2 जून को उन्हें वापस तिहाड़ जेल जाना पड़ेगा।

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के साथ दिल्ली में रोड शो करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा, “मैं 20 दिनों के लिए बाहर आया हूं, कह रहे हैं कि बीस दिन बाद दोबारा जेल जाना पड़ेगा, लेकिन अगर आपने झाड़ू का बटन ज़ोर से दबा दिया तो मुझे वापस जेल नहीं जाना पड़ेगा।”

अरविंद केजरीवाल दिल्ली की शराब नीति में हुए कथित भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ़्तार होने के 50 दिन बाद ज़मानत पर रिहा हुए हैं और आम आदमी पार्टी के लिए दिल्ली में प्रचार कर रहे हैं।

अरविंद केजरीवाल ने कहा, “मैं सोच रहा था, मैं एक छोटा सा आदमी हूं, हमारी छोटी सी पार्टी है, मुझे इन्होंने जेल में क्यो भेजा, मेरा क्या कसूर है, मुझे जेल क्यों भेजा गया। मेरा कसूर ये है कि मैंने अच्छे स्कूल बनवाये और शिक्षा का इंतज़ाम किया। आपके घर में कोई बीमार हुआ तो मैंने आपके लिए फ्री इलाज का इंतज़ाम किया। मोहल्ला क्लिनिक बनाये, अस्पताल बनाये, स्कूल बनाये, ये मेरा कसूर है। आपके लिए बिजली का इंतज़ाम किया।”

केजरीवाल ने जेल में ख़ुद को इंसुलिन ना दिए जाने के आरोप लगाते हुए कहा, “जब मैं तिहाड़ गया, 15 दिनों तक इन लोगों ने मेरी दवाई बंद कर दी। जब बाहर था… मैं 52 यूनिट इंसुलिन रोज़ लिया करता था। इन्होंने पंद्रह दिनों तक मेरी इंसुलिन बंद कर दी। जब लोगों ने हल्ला किया, मीडिया ने आवाज़ उठायी तब मेरी इंसुलिन चालू की गई।”

Loading

error: Content is protected !!