जशपुरनगर| जिले के बगीचा बीईओ कार्यालय में भ्रष्टाचार का एक मामला सामने आया है। यहां के बगीचा बीईओ ने अपने मातहतों की मदद से बिना काम किए लाखों रुपए की शासकीय राशि निकाल ली।
इस मामले का खुलासा तब हुआ, जब इसकी शिकायत शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों से हुई। मामले की जांच के बाद ज्वाइंट डायरेक्टर एजुकेशन ने जांच रिपोर्ट को आगे की कार्यवाही के लिए समग्र शिक्षा कार्यालय के पास भेज दी है।

गुणवत्ता सुधार के पैसे खुद खा गए

जशपुर जिले में शिक्षा गुणवत्ता को सुधारने के लिए शासन ने कुछ नए संकुल केन्द्र बनाने का निर्णय लिया, जिसमें बगीचा ब्लॉक में शासन के आदेश के बाद 25 नए संकुल बनाए थे, जिसके स्टेब्लिशमेंट खर्च के लिए शासन ने बीईओ और संकुल कार्डिनेटर के संयुक्त खाते में 40-40 हजार रुपए की राशि भेजी थी, लेकिन बीईओ, बीआरसी और एकाउंटेंट ने संकुल के कार्डिनेटर पर दबाव बनाकर ये राशि निकलवा ली और बिना स्टेब्लिशमेंट किए 21 संकुलों की 8 लाख 40 हजार रुपए में हेरफेर कर दिया। इसके बाद मामले में अपने आप को फंसता देख कुछ संकुल काने ऑर्डिनेटर ने इसकी शिकायत संयुक्त संचालक शिक्षा से की थी।

कार्रवाई की अनुशंसा

इस मामले की जांच के बाद संयुक्त संचालक ने कार्रवाई के लिए जांच प्रतिवेदन जॉइंट डायरेक्टर को भेज दिया है।

By admin

error: Content is protected !!