सबके लिए सबसे जरूरी खबर आ चुकी है, यानी 5 राज्यों के नतीजों से पहले उन पर बातें करने की सबसे बड़ी वजह… एग्जिट पोल

सबने सब तरह की बातें की हैं, लेकिन एक बात सबने की है- यूपी में योगीराज बरकरार रहेगा। हमने करीबन 10 एग्जिट पोल देखे, सब योगी के साथ हैं। पंजाब आप का हो सकता है। गोवा हंग असेंबली की ओर है, उत्तराखंड में आधे भाजपा की तो आधे कांग्रेस की सरकार बना रहे। मणिपुर भाजपा के हाथ में ही रह सकता है।

अब हम सब बातें करते रहें, दो दिन और, यानी 10 तारीख तक। फाइनल रिजल्ट उसी दिन जो आने हैं।

यूपी चुनाव के 10 से ज्यादा एग्जिट पोल में भाजपा को स्पष्ट बहुमत दिया गया है। इनमें भाजपा को 212 से 326 सीटें दी गईं। 2017 के चुनाव में भाजपा को 312 सीटें मिली थीं। यानी भाजपा पिछला प्रदर्शन नहीं दोहरा रही, पर सरकार तो बना रही है। इसके लिए 202 नंबर ही चाहिए।

UP पर 300 करोड़ से ज्यादा का सट्‌टा, भाजपा को 230 तक सीटें दे रहे सटोरिए
यूपी चुनाव को लेकर सट्टा बाजार में भी भाजपा का भाव हाई है। यहां का ट्रेंड कह रहा कि भाजपा पहले नंबर पर और सपा दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बन रही है। भास्कर ने राजस्थान का फलौदी सट्‌टा बाजार, मध्य प्रदेश, गुजरात, दिल्ली और मुंबई के सट्‌टा बाजारों के सटोरियों से बात कर ये सब जाना।

पी की 403 सीटों का एनालिसिस: अबकी बार 2017 से 0.94% कम वोटिंग
यूपी चुनाव में 60.31% वोटिंग हुई है। 2017 में 61.28% मतदान हुआ था। यानी इस बार पिछले चुनाव से 0.94% कम मतदान हुआ है। 2012 में 59.5% मतदान हुआ था। यानी 2017 में 1.2% मतदान में इजाफा होने पर भाजपा को 265 सीटों का फायदा हुआ था।

UP में वोट शेयर और जातीय गणित के दावे
माना जा रहा है कि यूपी में इस बार भाजपा+ को 43%, सपा+ को 35%, बसपा को 13% और कांग्रेस को 4% वोट शेयर मिल सकते हैं। 2017 में भाजपा+ का वोट शेयर 41.7% और सपा का वोट शेयर 22% था। चाणक्य के अनुसार भाजपा को 64% ओबीसी, 45% एससी और 34% जाटव वोट मिलने का दावा किया जा रहा है। वहीं, सपा को 76% मुस्लिम, 73% यादव वोट मिलने का दावा किया जा रहा है। बसपा को 47% जाटव व 28% एससी वोट मिस सकते हैं।

By admin

error: Content is protected !!